कांकेर। एक तरफ डीजीपी से लेकर आरक्षक तक कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए अपनी जान जोखिम में डालकर चैबीसों घंटे मुस्तैदी के साथ तैनात हैं, तो दूसरी तरफ वर्दी को दागदार करने वाला एक सब इंस्पेक्टर है, जिसे कच्ची शराब की तस्करी करते हुए पुलिस ने ही धर दबोचा है। इस शर्मसार करने वाली घटना ने पूरे महकमे को आंख नीची करने पर मजबूर कर दिया है, जबकि वह खुद भी जानता है कि लोगांें की जान पर आफत बनकर मंडराता कोरोना वायरस की वहज से पूरे देश में शराब पर प्रतिबंध लगा हुआ है, उसके बाद भी लालच की ऐसी पराकाष्ठा कि वह वर्दी की भी लाज नहीं रख पाया।

दरअसल पूरा मामला कांकेर जिले के चारामा थाना क्षेत्र का है। बीती रात एक सब इंस्पेक्टर अपने तीन साथियों के साथ अवैध रूप से शराब परिवहन करते गिरफ्तार किया गया है। चारामा पुलिस को सूचना मिली थी कि मचांदुर गांव के पास दुर्ग के पाटन थाना में पदस्थ एक सब इंस्पेक्टर देवानंद पटेल 55 लीटर देशी महुआ शराब के साथ अपने तीन सहयोगियों के साथ स्विफ्ट डिजायर कार में जा रहे हैं। पुलिस ने सूचना मिलते ही मचांदुर गांव के नाका के पास घेराबंदी की और स्विफ्ट डिजायर वाहन क्रमांक सीजी 07 बी एच 0697 को रोक लिया। जांच में कार से 55 लीटर महुआ शराब पाया गया।

पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए चारों आरोपियों देवानंद पटेल सब इंस्पेक्टर, पप्पू लहरे, सुरेश बंछोर, बल्लभ को चारामा थाना ले आई, जहां विवेचना के बाद चारों आरोपियों के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। एडिशनल एसपी कांकेर श्री कीर्तन राठौर ने मामले को लेकर कहा कि लॉक डाउन के दौरान शराब पूर्णता बंद है, साथ ही धारा 144 भी लागू है। सूचना पर कार्यवाही करते हुए अवैध शराब और परिवहन करते हुए सब इंस्पेक्टर समेत तीन पर कार्यवाही की गई है।