रायपुर। छग में शांत होता कोरोना वायरस का संक्रमण एकाएक तेज हो गया है। दुर्ग जिले में 8, कवर्धा जिले में 6 और रायपुर के आमानाका इलाके में मिले एक नए मरीज के साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या 22 हो चुकी है, वहीं प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 58 पहुंच चुकी है। इनमें से 36 पूरी तरह से स्वस्थ होकर लौट चुके हैं, लेकिन जिन मरीजों की पुष्टि हुई है, उनके संपर्क में आए लोगों को तलाशना, उनकी सैंपलिंग और रिपोर्ट आने के बाद की व्यवस्था के लिए सरकार और स्वास्थ्य विभाग को मंथन करना पड़ रहा है।
जानकारी के मुताबिक कवर्धा में 6 कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले 80 ग्रामीणों का सैंपल जांच के लिए रायपुर भेजा गया है। इनमें समनापुर गांव में पोस्टेड वन रक्षक भी शामिल है। वन रक्षक का पूरा परिवार भी क्वारेंटाइन में भेजा गया है। समनापुर, रेंगाखार से कुल 28 लोगों का सैंपल भेजा गया था। इनमें से 14 का रिपोर्ट आना अभी बाकी है।
यहां पर खतरनाक पहलू यह है कि रायपुर के आमानाका क्षेत्र में मिले 24 साल का युवक कूलर मेकेनिक है और उसके मुताबिक वह बीते कुछ दिनों के भीतर करीब 50 घरों में पहुंचा है। इन सभी घरों को तलाशना, फिर उन घरों के लोगों की सैंपलिंग जैसी प्रक्रियाओं को पूरा करने की जरूरत है।