गरियाबंद से विजय सिन्हा की रिपोर्ट

लाॅक डाउन की वजह से देश और प्रदेश में बड़ी तादाद में लोग बदहाल हो चुके हैं। आलम यह है कि सरकारें लोगों को भोजन, राशन और जरूरत के दूसरे सामान भी उपलब्ध करा रही है, लेकिन सच्चाई यही है कि आखिर दान का भाग कितना काम आता है, इंसान के काम वही आता है जो वह कमाकर लाता है। गरियाबंद पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल और जवान रविंद्र दिवाकर का यह वीडियो बड़ा मार्मिक है, जिसमें एक बुजुर्ग को मदद पहुंचाकर यह संदेश दिया गया है कि हर किसी के आसपास कोई ना कोई ऐसा पीड़ित होगा, जिसे वास्तव में मदद की आवश्यकता है, उसे मदद करें।

प्रदर्शित यह वीडियो केवल खबर नहीं है, बल्कि देश और प्रदेश की सच्चाई पर एक कड़ा प्रहार है, जिसका साक्षी हर कोई है। इस वीडियो में एक वर्दीधारी अपनी बाइक पर सवार होकर निकलता है, और उसकी नजर एक बुजुर्ग पर पड़ती है, जो मोची का काम करता है, लेकिन छांव के लिए उसका छाता पूरी तरह से क्षत-विक्षत हो चुका है। वह जवान एक छाता, हाथ धोने के लिए साबुन, पोछने के लिए तौलिया, मुंह में बांधने के लिए माॅस्क लेकर आता है और कुछ पैसा भी दे जाता है। इसका तात्पर्य सिर्फ इतना ही है कि हालात बहुत बुरे हैं, पर सक्षम लोग यदि सहयोग करने लग जाएं, तो परिस्थितियां अनुकुल हो सकती हैं।

https://www.youtube.com/watch?v=dsxvFHLvbJ4

गरियाबंद पुलिस का यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। लोग वीडियो में दिए गए एसपी भोजराम पटेल के संदेश तथा जवान रविंद्र दिवाकर के कार्य की जमकर प्रशंसा कर रहे हैं। वीडियो में दिए गए अच्छे संदेश के चलते लोग इसे जमकर शेयर कर रहे हैं एक दूसरे को भेज रहे हैं सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यह वीडियो छाया नजर आ रहा है।