रायपुर। छत्तीसगढ़ में एक ऐसा के सामने आया है जिसमें कोरोना पॉजिटिव मरीजों को ठीक करने वाला एक नर्सिंग ऑफिसर खुद भी कोरोना वायरस की जद में आ गया है। बीते 14 दिनों से वह क्वॉरेंटाइन में था। रायपुर एम्स के डायरेक्टर डॉक्टर नागल करने इस बात की पुष्टि की है कि नर्सिंग ऑफिसर की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

छत्तीसगढ़ में यह पहला मामला है जब कोई नर्सिंग ऑफिसर कोरोना पॉजिटिव हुआ है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 37 पहुंच गई है हालांकि प्रदेश के लिए अच्छी बात यह है कि एम्स रायपुर में अब इसने मरीज के साथ कुल मिलाकर केवल 7 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का ही उपचार जारी है।

बहरहाल छत्तीसगढ़ में अब स्थिति सामान्य हो चली है लिहाजा चिंता की आवश्यकता प्रदेश में नहीं है लेकिन खतरा पूरी तरह से टला नहीं है नर्सिंग ऑफिसर के कोरोना पॉजिटिव होने से यह बात भी स्पष्ट हो गई है। इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को उतने ही संयम से काम लेने की आवश्यकता है जितनी शिद्दत से वह इतने दिनों तक केंद्र एवं राज्य सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करते आए है।