रायपुर। सुकमा जिले के मिनपा इलाके में हुए मुठभेड़ की तस्वीर साफ हो गई है। माओवादियों ने जारी प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया है कि उन्होंने योजनाबद्ध तरीके से डीआरजी के जवानों पर हमला किया, शहीदों के हथियार लूटे। इस मुठभेड़ में उनके तीन साथी मारे गए हैं। जिनका उन्होंने अंतिम संस्कार कर दिया है। उनका कहना है कि अतिरिक्त सुरक्षा सलाहकार के. विजय कुमार, डीजीपी डीएम अवस्थी सहित स्थानीय प्रशासन ने माओवाद के अभियान को कुचलने का जो प्रयास किया, उसका उन्होंने जवाब दिया है। माओवादियों का यह भी कहना है कि वे अपने हक की लड़ाई लड रहे हैं, जिसका दमन करने के लिए बड़ी तादाद में फोर्स को तैनात किया गया है, लेकिन जल, जंगल और जमीन के लिए उनकी लड़ाई इसी तरह जारी रहेगी।

मारे गए नक्सली
लाश को ले जाते माओवादी
मारे गए माओवादियों की शव यात्रा
माओवादियों की अंत्येष्टि