कोरबा। माकपा पोलित ब्यूरो मेंबर वृन्दा करात ने गृहमंत्री अमित शाह पर निशान साधते हुए कहा कि वे होम मिनिस्टर नही हेट मिनिस्टर हैं। देश को केंद्र सरकार से सबसे बड़ा खतरा। आज हमारे देश के चरित्र को बचाने का संघर्ष चल रहा । केंद्रीय मंत्री कानून के साथ नहीं बल्कि उद्योपतियों के साथ खड़े हैं ।

कोयला उद्योग को भी निजीकारण की दलदल में धकेला जा रहा । कोयला मजदूर संघर्ष कर रहे हैं । जीएसटी की मार व्यापारी झेल रहे हैं। दिल्ली की जनता ने बैलेट पेपर से गोली मारने वाले को करारा जवाब दिया है। प्रॉफिट वाले उद्योगों को भी बेचा जा रहा है ।

वृन्दा करात ने ग्रामीण क्षेत्रो में 2 फीसदी क्रय शक्ति में गिरावट कम हुआ है। इसका कारण रोजगार लोगों को नहीं मिल रहा है। स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट को दरकिनार करना यानी किसानों को गर्त में ढकेलना है। जीएसटी लागू करने से आज व्यापारी भी संकट में है। देश में आज सुरक्षित है तो बस 1 परसेंट लोग जिनके पास पूरे देश की संपत्ति है। देश धर्म के नाम से बंट रहा है और आर्थिक विकास गिर रही ।