मौसम के परिवर्तन के साथ बढ़ गए है मौसमी बीमारियों के मरीज,,कोरोना के डर से बड़ी संख्या में पहुंच रहे है अस्पताल।

कोरोना महामारी के साथ ही अब मौसमी बीमारी के वायरस भी सक्रिय हो गए हैं। यही वजह है कि सिम्स से लेकर जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ गई है।सोमवार को जहां सिम्स में 15सौ से अधिक मरीज पहुंचे,तो वहीं जिला अस्पताल में मरीजों का आंकड़ा 5सौ के पार जा पहुंचा। जिसमें अधिकांश मौसमी बीमारी की चपेट में पाए गए।मौसम में हो रहे बदलाव के कारण लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर असर पड़ रहा है। ऐसे में अस्पतालों में मरीजों की भीड़ भी बढ़ गई है।ज्यादातर लोगों को सर्दी, बुखार, बदन दर्द और कमजोरी की शिकायत थी।सिम्स के अधीक्षक डॉक्टर नीरज शिंदे ने बताया कि रोजाना कोरोना के मामले भी बढ़ रहे है उसपर मौसम में उतार चढ़ाव से भी लोग मौसमी बीमारी के चपेट में आ रहे है।अधिकांश लोग तो डॉक्टरों से ही कह रहे है कि उनका कोरोना जांच करवा दीजिये।हालांकि मरीजों की स्थिति को देखते हुए डॉक्टर उन्हें खान पान में विशेष सावधानी बरतने हिदायत दे रहे है और फिर भी कोई मौसमी बीमारी के चपेट में आता है तो उन्हें किस तरह उपचार कराना है इसकी भी सलाह दे रहे है।