बिलासपुर। कटघोरा में मिले कोरोना संक्रमित की ट्रेवल हिस्ट्री तालापारा में जुड़ने के बाद स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ गई है। तालापारा क्षेत्र को अतिसंवेदनशील माना जा रहा है। इसके चलते यहां से आने – जाने वालों पर पुलिस नजर रखी हुई है। इस बीच मुंगेली के समीप एक गांव में तालापारा के एक युवक को पुलिस ने पकडा है। जानकारी के अनुसार मुंगेली जिले के लालापुर थानाक्षेत्र अंतगर्त ग्राम प्रतापपुर में एक व्यक्ति के घर एक युवक का बिना सूचना ठहरे होने की सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी। पुलिस की टीम ने दबिश देकर युवक को घर से पकडा। पकडे गए युवक ने अपनी पहचान तालापारा समता कालोनी बिलासपुर निवासी युवक रईस अली पिता रसीद अली बताया। वह 7 अप्रैल को शाम करीब 6 बजे से प्रतापपुर में आशीक अली पिता वाशिद अली के घर मे बिना सूचना के आकर रूका हुआ था। पुलिस ने दोनो आरोपियों के विरूद्ध धारा 188,34 भादवि0 का अपराध पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना लिया है।
मालूम हो कि कटघोरा में अचानक से सात जमातियों के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद प्रदेश सरकार सकते में आ गया है। इन सक्रमितों से जुड़े हर व्यक्ति की जानकारी जुटाई जा रही है। इनकी ट्रेवल हिस्ट्री में एक संक्रमित के बेटी-दामाद के भी कोरोना के चपेट में आने की आशंका है। गुरुवार की देर रात ट्रेवल हिस्ट्री मिलने के बाद पता चला कि तालापारा में उनके बेटी-दामाद रहते हैं। वे महज 20 से 25 दिन पहले कटघोरा गए थे। इसके बाद से परिवार यहां आराम से घूम रहा था। इसके चलते यह इलाका अतिसंवदेनशील हो गया है। इस सूचना से प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम तत्काल तालापारा पहुंची। पुलिस के साथ टीम ने पति-पत्नी के साथ ही किराएदार चार परिवार के 21 सदस्यों के सैंपल लिए गए हैं। इसके साथ ही उन्हें होम आइसोलेट कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम के तालापारा पहुंचने के बाद आसपास के इलाकों में हड़कंप मच गया।