डबल मर्डर से मचा हड़कंप.. सपा नेता व उनके बेटे की गोली मारकर हत्या…

0
16

उत्तरप्रदेश। कोरोना वायरस के कराण देशभर में लगे लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश के संभल में सपा नेता और उनके बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जनपद में बहजोई थाना क्षेत्र के फतेहपुर शमशोई गांव में मंगलवार को पुरानी रंजिश में प्रधान पति सपा नेता और उसके बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के समय दोनों पिता-पुत्र गांव में चल रहे विकास कार्यों को देखने के निकले थे। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों को ग्रामीणों ने घेर लिया और जमकर हंगामा किया। हत्या के पीछे मनरेगा के तहत बनाई जा रही सड़क का विरोध बताया जा रहा है। गांव के ही कुछ दबंग इस सड़क का विरोध कर रहे थे। दिन निकलते ही हुई सनसनीखेज दोहरे हत्याकांड के बाद पुलिस अधीक्षक के साथ ही आईजी भी मौके पर पहुंचे हैं, हालांकि हत्यारोपी अभी पुलिस पकड़ से दूर हैं।

समाजवादी पार्टी के नेता छोटे लाल दिवाकर की पत्नी गांव की प्रधान हैं। ऐसे में उनका भी ज्यादातर काम छोटेलाल दिवाकर ही देखते थे। छोटे लाल दिवाकर मंगलवार की सुबह अपने बेटे सुनील दिवाकर के साथ गांव की आबादी के बाहर मनरेगा से बन रही सड़क का जायजा लेने गए थे। आरोप है कि इसी दौरान गांव के ही कुछ दबंग वहां पहुंच गए और आगे अपने खेत होने का हवाला देते हुए सड़क निर्माण का काम आगे न बढ़ाने की हिदायत दी। जब छोटे लाल दिवाकर ने ऐसा करने से इंकार कर दिया तभी हमलावरों ने दोनों को घेर लिया और बाप-बेटे की गोली मार दी। मौके पर ही दोनों की मौत हो गई। इसके बाद हमलावर फरार हो गए। मौके पर काम कर रहे मजदूर भी भाग निकले। दोहरे हत्याकांड की खबर मिलते ही गांव में सनसनी फैल गई।

छोटे लाल दिवाकर को समाजवादी पार्टी ने बीते विधानसभा चुनाव में चंदौसी विधानसभा क्षेत्र से अपना प्रत्याशी बनाया था। हालांकि बाद में यह सीट गठबंधन खाते में कांग्रेस के पास चली गई थी और छोटेलाल चुनाव नहीं लड़ पाए थे। छोटेलाल इस समय चंदौसी विधानसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी प्रभारी के रूप में काम कर रहे थे। सीओ बहजोई अशोक कुमार का कहना है कि आरोपितों की तलाश में दबिश दी जा रही है। पुरानी रंजिश के चलते दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया गया। मामले की जांच की जा रही है। जल्दी ही आरोपितों को पकड़ लिया जाएगा।