राज्य के होनहारों ने किया गूगल पर नए फीचर का अविष्कार

0
4

रायपुर  अब गूगल हिंदी से अंग्रेजी अनुवाद की तरह है हिंदी से गोंडी और गोंडी से हिंदी में भी अनुवाद करेगा इसके लिए माइक्रोसॉफ्ट सीजीनेट स्वरा और नया रायपुर स्टेट ट्रिपल आईटी ने मिलकर गूगल के लिए सॉफ्टवेयर विकसित किया है. यह नया फीचर अगस्त मंथ के अंत तक लॉन्च हो जाएगा हिंदी गोंडी अनुवाद के लिए इंटरएक्टिव म्यूरल मशीन ट्रांसलेशन का विकास तेलंगाना के अर्का मानसिक रोग छत्तीसगढ़ के रेनू राम मरकाम और उड़ीसा के रविंद्र नाथ ने मिलकर किया है.

संस्था के संयोजक शुभ्रांशु चौधरी का कहना है, कि बस्तर में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच चल रही लड़ाई में सरकार आम जनता से इसलिए नहीं जुड़ पाती है क्योंकि सरकारी तंत्र गोंडी भाषा नहीं जानता इस लड़ाई मैं सबसे ज्यादा जरूरी है. जनता का विश्वास जीतना गोंडी के माध्यम से ही जनता तक पहुंचा जा सकता है. इस उद्देश्य को लेकर सीधी लगातार काम कर रहा है 6 राज्यों आंध्रप्रदेश उड़ीसा छत्तीसगढ़ तेलंगाना महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में करीब एक करोड़ 2000000 लोग गोंडी भाषा में संवाद करते है.

गोंडी भाषा राज्यों के करीब डेढ़ सौ लोगों ने पिछले 4 महीनों में अनुवाद कर 35 हजार से अधिक वाक्य तैयार किए हैं. गूगल के लिए टूल बनाने में ट्रिपल के छात्र अनुराग शुक्ला ने तकनीकी सहयोग दिया है.
शुभ्रांशु का कहना है कि नई शिक्षा नीति में स्थानीय भाषाओं में पढ़ाई की योजना है. उनकी संस्था प्राथमिक स्तर की किताबों का गोंडी भाषा में अनुवाद भी कर रही है. गोंडी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग भी लगातार उठ रही है. उम्मीद है कि मोबाइल में गोंडी होने से भाषा का विकास होगा.