जब देश ताली और थाली बजा रहा था, तो हम जनता की सेवा में लगे थे – सीएम भूपेश बघेल 

0
3

रायपुर। विधानसभा के तीसरे दिन की कार्यवाही शुरू हुई। शराब मुद्दे पर सत्ता पक्ष और विपक्षी विधायकों के बीच जोरदार बहस हुई। दन में आज अनुपूरक बजट पर चर्चा हुई। अनुपूरक बजट पर चर्चा के दौरान सदन में सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि आज के समय में हम सबका एक ही लक्ष्य है पीड़ित मानवता की सेवा करना। कोरोना ने अर्थव्यवस्था को प्रभावित किया है। हमारे लक्ष्य में गांधी और गांव है। जब देश में थाली और ताली बजा रहे थे, तब हम प्रदेश की जनता की सेवा में लगे थे।

ALSO READ – BIG NEWS : भारी बारिश बनी आफत, मकान गिरने से 9 साल के बच्चे की मौत, माँ की हालत गंभीर

उन्होंने आगे कहा कि लोग सड़कों पर डान्स कर रहे थे, तब हम मनरेगा में रोजगार दे रहे थे। आज हम 31 लघु वनोपज खरीद रहे हैं। लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा स्टील उत्पादन छत्तीसगढ़ में हुआ है। लॉकडाउन में छत्तीसगढ़ में बाहर से आए मजदूर यहीं रहे। ढोलक और गेड़ी चलाना हमारी संस्कृति है। ड्रम बजाना हमारी संस्कृति में नहीं है। हमने दूसरे राज्यों के लोगों को भी उनकी सीमा तक छोड़ा है। इस आपदा के समय को हमने अपना सेवा माना है।

ALSO READ – BREAKING : SP आये कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप, अब कई पुलिस अधिकारियों को करानी होगी जांच

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगे कहा कि 2003 में कांग्रेस सरकार ने 400 करोड़ रुपए खजाना में छोड़कर गए थे। 2018 में रमन सरकार ने 41,000 करोड़ का कर्ज छोड़कर गए हैं। किसानों को न्याय योजना की राशि देने कर्ज़ लेंगे। भाजपा सरकार में ग़रीबी, भुखमरी और कुपोषण का आंकड़ा ज़्यादा था। अबर जीएसटी की राशि मिलती तो कर्ज़ लेने की ज़रूरत नहीं होती। राज्य में रोका-छेका का फायदा हुआ है, आरएसएस नेता ने भी गौधन योजना की तारीफ़ की है। छत्तीसगढ़ में राम वनगमन बनाए जा रहे हैं। राम वनगमन में भी पर्यटकों की सुविधा के लिए विकास किया जाएगा। 15 साल तक चंदखुरी का विकास नहीं हुआ।