नयी दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण से बिगड़ते हालातों पर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक उच्चस्तरीय बैठक की। इस बैठक में उन्होंने देश में मौजूद मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर का समीक्षा किया। बैठक में प्रधानमंत्री ने हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को तेजी से अपग्रेड करने का आदेश दिया है। वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर के अलावा ऑक्सीजन और दवाओं की उपलब्धता पर भी चर्चा हुई।

बैठक में अधिकारियों ने पीएम मोदी को बताया कि राज्यों को मिलने वाली ऑक्सीजन का कोटा बढ़ा दिया गया है। ये भी जानकारी दी गई कि अगस्त 2020 में देश में हर दिन 5,700 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीन का प्रोडक्शन होता था, जो 25 अप्रैल 2021 को बढ़कर 8,922 मीट्रिक टन हो गया है। अधिकारियों को उम्मीद है कि अप्रैल के आखिर तक देश में रोजाना 9,250 मीट्रिक टन ऑक्सीजन बनाई जाने लगेगी।

उच्चस्तरीय बैठक में मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर और कोविड प्रबंधन पर काम कर रहे एम्पावर्ड ग्रुप ने पीएम को बेड्स/सीयू की उपलब्धता को बढ़ाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी है। पीएम ने जोर देकर कहा कि कोविड प्रबंधन के संबंध में दिशा-निर्देशों और रणनीतियों को ठीक से लागू करने की जरूरत है। कम्यूनिकेशन पर काम कर रहे एम्पावर्ड ग्रुप ने पीएम मोदी को बैठक में बताया कि लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए काम किया जा रहा है। साथ ही पीएम मोदी को ऑक्सीजन एक्सप्रेस, भारतीय वायुसेना द्वारा उठाए जा रहे ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के कदमों के बारे में भी बताया गया।