रायपुर। राजधानी रायपुर में कोरोना से निपटने नगर निगम की टीम मुस्तैदी के साथ काम कर रही है। मरीजों की बेहतर इलाज के लिए अलग अलग क्षेत्रो कोविड अस्पताल का निर्माण कराया गया है। राजधानी रायपुर के सरदार बलबीर सिंह जुनेजा इंडोर स्टेडियम को महापौर ढेबर की अगुवाई में महज चार दिनों के अंदर कोरोना अस्पताल में तब्दील किया गया है। इस अस्थाई अस्पताल में मरीजों के लिए 320 ऑक्सीजन बेड्स के साथ-साथ 3 वेंटिलेटर बनाएं गए है। इन प्राथमिकता के आधार पर मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

फाइल फोटो

12 अप्रैल से शुरू हुई इस अस्पताल में अब तक करीब 500 मरीज भर्ती हुए थे। बेहतर प्रबंधन और मरीजों की हित में स्वास्थ्य मैनेजमेंट के चलते इस अस्पताल से अभी तक 190 मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौटे है। जबकि अन्य मरीजों का इलाज सुचारु रूप से चल रहा है। इस अस्थाई अस्पताल में 120 मेडिकल स्टाफ की तैनाती की गई है। जिनमें डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ और वार्ड ब्यॉय शामिल है।

महापौर ढेबर खुद कर रहे है इसकी मॉनिटरिंग

महज चार दिनों में बनी इस अस्थाई कोविड अस्पताल में मरीजों को इलाज के बिहार सुविधा दी जा रही है। इस अस्पताल में मॉनिटरिंग महापौर एजाज ढेबर खुद कर रहे है। समय समय पर वह पीपीई किट पहनकर मरीजों का हाल-चाल जानने मरीजों के बीच पहुंचते है। और उनसे बातचीत कर उनका हौसला बढ़ाते है। इसके अलावा अस्पताल में जो भी जरुरी चीजे है उनको प्राथमिकता के साथ पूरी कर रहे है।