दरभंगा। जिले के सिंहवाड़ा प्रखंड में मनावता को शर्मसार करने वाली घटना घटित हुई है। यहां एक कलयुगी पिता ने कर्ज चुकाने के लिए अपनी बेटी का ही सौदा कर दिया। इस पाप में पीड़िता के भाई ने भी अपने पिता का बखूबी साथ दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी ने पीड़िता के कलयुगी पिता और भाई के सामने ही उसके साथ दुष्कर्म किया। वहीं, पीड़ित महिला ने सिंहवाड़ा थाने में अपने पिता और भाई पर दुराचार करवाने का आरोप लगाया है।

वहीं, पीड़िता का कहना है कि जब आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया तो उसने इसकी शिकायत अपने पिता और भाई से करने की बात कही। इस पर आरोपी ने कहा कि यह सब उसने परिजनों की इजाजत से ही किया है। अगले दिन जब पीड़िता ने घटना के बारे परिजनों को बताया तो आरोपी पर किसी तरह की कार्रवाई करने के बजाए वो लोग उसे ही समझाने लगे। जिसके बाद पीड़िता को पूरी बात समझने में देर नहीं लगी।

 

इतना ही नहीं, बल्कि पीड़िता के पिता का कहना था कि ‘तुम अपने पति को छोड़ दो। तुम्हारे लिए कोई अच्छा लड़का ढूंढ देंगे, उसके साथ रहो। जब उसने इसका विरोध किया तो उसे घर में बंद कर दिया गया। साथ ही उसके आठ माह के बच्चे की हत्या करने की धमकी दी गई। आरोपी ने एक माह तक बंधक बनाकर पीड़िता के साथ मनमानी की। किसी तरह से पीड़िता अपने ससुराल पहुंची जहां से वह अपने पति, सास, ससुर के साथ ओडिसा चली गई। वहां भी पिता और भाई फोन कर वापस आने के लिए दबाव देने लगे। तंग आकर उसने अपने ससुराल वालों को पूरी घटना की जानकारी दी। फिर ससुराल वाले पीड़िता के साथ महिला थाने पहुंचे। जहां पीड़िता ने अपने पिता उदयचंद्र भगत, भाई गुड्डू भगत, आरोपी व एपीएम थानाक्षेत्र के श्रीपुर बहादुरपुर निवासी चंद्रभूषण भगत सहित आठ लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई है।