BIG BREAKING : स्वास्थ्य मंत्रालय ने निजी अस्पतालों में अलग-अलग वैक्सीन लगवाने के लिए निर्धारित किए दर, इतना होगा शुल्क  
BIG BREAKING : स्वास्थ्य मंत्रालय ने निजी अस्पतालों में अलग-अलग वैक्सीन लगवाने के लिए निर्धारित किए दर, इतना होगा शुल्क  
BIG BREAKING : स्वास्थ्य मंत्रालय ने निजी अस्पतालों में अलग-अलग वैक्सीन लगवाने के लिए निर्धारित किए दर, इतना होगा शुल्क  
BIG BREAKING : स्वास्थ्य मंत्रालय ने निजी अस्पतालों में अलग-अलग वैक्सीन लगवाने के लिए निर्धारित किए दर, इतना होगा शुल्क  

नई दिल्ली। निजी अस्पतालों के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अलग- अलग वैक्सीन के लिए दाम निर्धारित किया है। वैक्सीन निर्माताओं द्वारा वर्तमान में घोषित कीमतों के आधार पर निजी अस्पतालों के लिए कोविशील्ड वैक्सीन के लिए 780 रुपये, कोवैक्सिन वैक्सीन के लिए 1,410 रुपये और स्पुतनिक वी वैक्सीन के लिए 1,145 रुपये का शुल्क निर्धारित किया है।


ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार शाम को देश के नाम संबोधन में कहा था कि 21 जून से देश के हर राज्य में 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए, भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग पैसे देखकर वैक्सीन लगवाना चाहते हैं वो लोग ऐसा कर सकते हैं। निजी अस्पतालों में पैसे देकर वैक्सीनेशन भी जारी रहेगा लेकिन इस दौरान अस्पतालों में सरचार्ज 150 रुपये से ज्यादा नहीं होगा।

Also Read : बंद होगा सीजी टीका एप, 21 जून तक 18 प्लस वालों के वैक्सिनेशन की स्थिति स्पष्ट नहीं

उधर, दिसंबर तक सभी वयस्कों को टीका लगाने के लिए सरकार ने 127.6 करोड़ डोज की व्यवस्था कर ली है। पिछले हफ्ते बायोलाजिल ई को 30 करोड़ डोज का आर्डर देने के बाद सरकार ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन की 44 करोड़ डोज का आर्डर बुक कर दिया है। इन सभी डोज की सप्लाई अगस्त से दिसंबर के बीच होगी। इससे पहले, 31 जुलाई तक के लिए सरकार 53.6 करोड़ डोज का आर्डर दे चुकी है। इसमें स्पुतनिक-वी शामिल नहीं है, जिसका रूस से आयात होना शुरू हो चुका है और जुलाई के बाद भारत में बड़े पैमाने पर इसका उत्पादन भी होने लगेगा।

Also Read : केंद्र सरकार ने दिए 44 करोड़ वैक्सीन के ऑर्डर, कंपनियों को 30 प्रतिशत एडवांस भी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

31 जुलाई तक दिल्ली में 5.25 लाख तक पहुंच सकता है कोरोना केस, मुख्यमंत्री केजरीवाल ने की सतर्कता बरतने की अपील

नई दिल्ली। देश में कोरोना का कहर जारी है । देश की…

कार्रवाई : लगातार छापामार का दौर जारी…. 80 लाख का गुटखा-गुडाखू और नमक जप्त

रायपुर। कोरोना संकट के बीच प्रतिबंधित गुटखा और नशीले पदार्थों का अवैध…

विश्वविद्यालयों का कार्य केवल डिग्री देना ही नहीं, समाज और प्रदेश की समस्याओं का प्रभावी और वैज्ञानिक हल खोजना भी है :  भूपेश बघेल

रायपुर,   मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि विश्वविद्यालयों का कार्य केवल…

खाद की आड़ में सोसायटियों का फर्जीवाड़ा… ज़मीन नहीं होने के बावजूद की फ़र्जी एंट्री

राजनांदगाव।  खरीफ सीजन में किसानों को खाद उपलब्ध कराने के बजाय सहकारी…