CORONA UPDATE : बच्चों में कोरोना का गंभीर संक्रमण नहीं, एम्स की सफ़ाई - विश्व भर से अब तक ऐसा कोई डेटा नहीं आया
CORONA UPDATE : बच्चों में कोरोना का गंभीर संक्रमण नहीं, एम्स की सफ़ाई – विश्व भर से अब तक ऐसा कोई डेटा नहीं आया
CORONA UPDATE : बच्चों में कोरोना का गंभीर संक्रमण नहीं, एम्स की सफ़ाई - विश्व भर से अब तक ऐसा कोई डेटा नहीं आया
CORONA UPDATE : बच्चों में कोरोना का गंभीर संक्रमण नहीं, एम्स की सफ़ाई – विश्व भर से अब तक ऐसा कोई डेटा नहीं आया

नयी दिल्ली।  देश में कोरोना और टीकाकरण की स्थिति को लेकर प्रेस कांफ्रेंस करते एम्स के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि भारत का या विश्व का डेटा देखें तो अब तक ऐसा कोई डेटा नहीं आया, जिसमें दिखाया गया है कि बच्चों में अब ज्यादा गंभीर संक्रमण है। बच्चों में अभी हल्का संक्रमण रहा है। अभी कोई सबूत नहीं है कि अगर कोविड की अगली लहर आएगी तो बच्चों में ज्यादा गंभीर संक्रमण होगा।

Also Read : BABA KA DHABA : बंद करना पड़ा रेस्टोरेंट, बाबा फिर वहीं आए जहाँ से शुरू किया था

नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने कहा कि निजी क्षेत्रों (अस्पतालों) के लिए टीकों की कीमत वैक्सीन निर्माताओं द्वारा तय की जाएगी। राज्य निजी क्षेत्र की कुल मांग करेंगे, जिसका अर्थ है कि वे देखेंगे कि उसके पास सुविधाओं का कितना नेटवर्क है, और उसे कितनी खुराक की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कोविशील्ड की 25 करोड़ खुराक और कोवैक्सिन की 19 करोड़ खुराक खरीदने का आदेश दिया है। सरकार ने बायोलॉजिकल ई टीके की 30 करोड़ खुराक खरीदने का भी आदेश दिया है, जो सितंबर तक उपलब्ध होगा। डॉ वीके पॉल से जब पूछा गया कि क्या भारत सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद टीकाकरण के लिए नए दिशानिर्देश पेश किए तो उन्होंने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट की की चिंता का सम्मान करते हैं, लेकिन भारत सरकार 1 मई से विकेन्द्रीकृत मॉडल के कार्यान्वयन का मूल्यांकन कर रही थी। ऐसे फैसले विश्लेषण और परामर्श के आधार पर समय की अवधि में लिए जाते हैं।

Also Read : SPECIAL REPORT- एक बंगला बने ‘हमारा’

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि जहां 7 मई को देश में प्रतिदिन के हिसाब से 4,14,000 मामले दर्ज़ किए गए थे, वे अब 1 लाख से भी कम हो गए हैं। पिछले 24 घंटों में 86,498 मामले देश में दर्ज़ किए गए। यह 3 अप्रैल के बाद अब तक एक दिन के सबसे कम मामले हैं। होम आइसोलेशन और मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर दोनों को मिलाकर रिकवरी रेट बढ़कर 94.3 फीसद हो गई है। 1-7 जून के बीच पॉजिटिविटी रेट कुल मिलाकर 6.3 फीसद दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटों में 1,82,000 रिकवरी और 4.62 फीसदी पॉजिटिविटी रेट दर्ज की गई। 4 मई को देश में 531 ऐसे ज़िले थे, जहां प्रतिदिन 100 से अधिक मामले दर्ज किए जा रहे थे, ऐसे ज़िले अब 209 रह गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

LOCKDOWN-29 में से छत्तीसगढ़ का 15 वां जिला भी हुआ लॉक, मौतों के आंकड़ों ने चौंकाया, बाजार होंगे पूरी तरह बंद

छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर जारी है। एक के बाद एक जिले…

CRIME: 5.50 लाख के हीरे का साथ तस्कर गिरफ्तार

जगदलपुर। बस्तर पुलिस ने 189 नग हीरों के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार…

BREAKING : छत्तीसगढ़ में लाॅक डाउन..! विचार करने कल होगी… बड़ी बैठक… सीएम करेंगे अध्यक्षता

रायपुर। बीते पांच दिनों के भीतर कोरोना ने प्रदेश के भीतर जिस…

सनी दओल ने तोड़ी अपनी Y श्रेणी की सुरक्षा पर चुप्‍पी, कहा- इसे क‍िसान आंदोलन से न जोड़ें

भारतीय जनता पार्टी के सांसद और अभिनेता सनी देओल ने हाल ही…