ग्रैंड न्यूज़ डेस्क। भारत ने टी20 वर्ल्ड कप 2021 में ख़राब प्रदर्शन के बाद अब न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप कर ली है। सीरीज के तीनों मैच में भारत ने धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए मुकाबले अपने नाम किया। लेकिन इससे पहले टी20 वर्ल्ड कप में टीम सेमीफाइनल तक भी नहीं पहुंच पाई थी। उसके बाद टीम का कप्तान बदलते ही उसकी किस्मत भी बदलनी शुरू हो गई। नए कप्तान रोहित शर्मा और नए हेड कोच राहुल द्रविड़ के युग में टीम ने सीरीज में क्लीन स्वीप के साथ अपने युग की शुरुआत की है। इस बीच, कप्तान रोहित ने बताया है कि टी20 वर्ल्ड कप के बाद कैसे टीम इंडिया जीत की राह पर लौटी है।

 

ALSO READ : कल से प्रदेश में खुल जाएंगे सभी स्कूल, शिक्षाकर्मियों की पदोन्नति का खुला रास्ता, कैबिनेट में लिए गए और भी फैसले

 

खुश होकर होकर खेल सकें खिलाड़ी – रोहित 

 

न्यूजीलैंड के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन्स में जीत के बाद जब रोहित से पूछा गया कि राहुल द्रविड़ और उन्होंने टी20 विश्व कप के लचार प्रदर्शन के बाद टीम को कैसे जीत की राह पर लौटाया, रोहित ने कहा, ‘हम टीम के अंदर स्वस्थ माहौल तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं। खिलाड़ियों को सुरक्षा प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि वे खुश होकर होकर खेल सकें। हमारी जो पहली बैठक हुई थी तो हमने प्रत्येक खिलाड़ी को यह स्पष्ट रूप से बता दिया था कि अगर आप टीम के लिए कुछ करने की कोशिश कर रहे हैं तो उसे कभी नजरअंदाज नहीं किया जाएगा।’

 

ALSO READ : भूपेश कैबिनेट का बड़ा फैसला, पेट्रोल में 1 तो डीजल में 2 फीसदी कम किया गया वैट टैक्स

 

भारत में प्रतिभा की कमी नहीं

 

रोहित ने कहा, ‘यह कप्तान और कोच का काम है कि वे खिलाड़ियों को बताएं कि वे क्या समझते हैं और आप टीम के लिए क्या करने की कोशिश कर रहे हैं। भारत में प्रतिभा की कमी नहीं है। आपके पास कई विकल्प होते हैं और इसलिए काम आसान नहीं होता। आप हर किसी को टीम में फिट करने की कोशिश करते हैं लेकिन केवल 11 ही खेल सकते हैं इसलिए यह आसान नहीं है।’

 

 

ALSO READ : देश में 20 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा, क्रिसमस को देखते हुए, अलर्ट में सरकार

 

गेंदबाजों का दिखा जलवा

 

भारत ने तीसरे टी20 मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 184 रन बनाए और फिर न्यूजीलैंड को 111 रन पर आउट कर दिया। रोहित ने कहा, ‘गेंदबाजी इस सीरीज में हमारे लिए सबसे सकारात्मक पक्ष रहा। हमने पहले दो मैचों में न्यूजीलैंड की विस्फोटक शुरुआत के बाद वास्तव में अच्छी वापसी की। न्यूजीलैंड की मजबूत टीम को 160 रन के करीब रोकना वास्तव में सराहनीय है।’