जेसीआई रायपुर वामा कैपिटल द्वारा दो दिवसीय महिलाओं के लिए शक्ति प्रशिक्षण का वर्कशॉप हुआ आयोजित

जेसीआई रायपुर वामा कैपिटल द्वारा नारी सशक्तिकरण का आयोजन किया गया | यह आयोजन जेसीआई मंडल के 9 जोन ने 16-17 को दो दिवसीय शक्ति का सेमिनार बेबीलॉन इन में किया गया | इस ट्रेनिंग वर्कशॉप के सेमिनार में 3 राज्यों की महिलाएं एकत्रित हुई महाराष्ट्र ,उड़ीसा , व छत्तीसगढ़ की 100 से अधिक महिलाओं ने शक्ति के सेमिनार में अपनी भागीदारी दी| यह आयोजन रायपुर वामा कैपिटल की टीम ने होस्ट किया|

इस ट्रेनिंग की खास बात यह है कि इसमें 2 दिन ट्रेनिंग के साथ-साथ बहुत सी एक्टिविटी भी करवाई गई व साथ में कुछ मनोरंजन के कार्यक्रम -जैसे जुंबा ,गरबा भी कराया गया |इस आयोजन के पहले दिन की ओपनिंग CG जोन प्रेसिडेंट आशीष अग्रवाल ने की, व आयोजन के चीफ गेस्ट मीनाक्षी टुटेजा रही दूसरे दिन आयोजन की ओपनिंग राजेश सराफ व योगिता जैस्वाल ने की।  इस दो दिवसीय शक्ति ट्रेनिंग सेमिनार के ट्रेनर JC निशा चांडक , JC धारनी डेलास्का, JC लीना वाढेर, आशीष अग्रवाल रहे।

ट्रेनर JCI निशा ने कहा नारी एक बीच की तरह है वह जमीन में दबी हुई है उसे तोड़कर वह ऊपर नहीं आ पा रही है उसे कोई और बाहर नहीं निकालेगा ,नारी को खुद ही जमीन तोड़कर ऊपर आना पड़ेगा|आपको अपने सपने पूरे करने हैं तो आप खुद ही आगे आकर उस की पहल करनी चाहिए |आपको कुछ बड़ा करने की जरूरत नहीं है आपको हर दिन कुछ छोटा करके भी आप आगे बढ़ सकती हैं|आप अपने जीवन में चुप रह कर भी बहुत कुछ पा सकती हैं जरूरी नहीं है कि आप कोई भी काम बोलकर या चिल्लाकर करें |

ट्रेनर JC लीना वर्ड एस ने कहा कि नारी को हमेशा अपडेट होते रहना चाहिए जिससे हम अपने बच्चों के साथ आगे बढ़ सकते हैं वह हमारे और बच्चों के बीच अच्छा तालमेल रहता है। वह हमारा सम्मान भी करते हैं आपके अंदर की जो कमी है आपको स्वयं ही दूर करनी पड़ेगी कोई दूसरा नहीं आएगा उसे दूर करने के लिए आपको अपने आप पर विश्वास करना चाहिए ,कि मैं हर एक काम स्वंय कर सकती हूं|

निशा ने कहा जीवन में छोटे-छोटे काम हमें खुद करना चाहिए उस काम के लिए हमें बच्चों व फैमिली पर आश्रित नहीं होना चाहिए आज डिजिटल की दुनिया में हमें मोबाइल पर हर एक ऐप की जानकारी होनी चाहिए जैसे ओला बुक करना ताकि समय आने पर हम उसे यूज कर सके|

JC धारनी ने कहा जहां चाह वहां राह होती है जो हमको नहीं आता है हमें उसे बार-बार प्रैक्टिस करके सीखना चाहिए | आवश्यकता ही आविष्कार की जननी होती है धरनी ने आइसक्रीम की चम्मच पर क्रिएटिविटी करवा कर कुछ एक्टिविटी करवाई |जीवन मे एक न एक बार अपॉर्चुनिटी मिलती है उसे एक्सेप्ट करके आगे बढ़ना चाहिए | Jc के फाउंडर राजेश अग्रवाल ने कहां हर नारी को खुद अपनी तारीफ करनी चाहिए | उन्होंने कुछ छोटे-छोटे जादू के द्वारा जीवन में लाइफ को बैलेंस करना सिखाया कि कैसे नारी अपने परिवार और समाज ,बाहर अपने जीवन को बैलेंस करके चलती है परिवार व समाज में अपनी इंपॉर्टेंट बनाए रखना चाहिए और हर एक नारी को अपनी शक्ति खुद ही पहचानना कर आगे बडना चाहिए |

कार्यक्रम के आयोजन के आखिरी में बहुत सारे अवार्ड दिए गए | व शक्ति क्वीन विनर Jc लीना सोन्डे
फर्स्ट रनर अप JC swati गार्डवार ,सेकंड रनर अप चंचल पलसानिया, बेस्ट स्माइल भावना योले, बेस्ट अट्रैक्टिव फेस अजेस चावला ,मिस ट्रांसफॉर्म ओसाया ,मिस कॉन्फिडेंस रेनू अग्रवाल, मिस चारमिंग rupali धारा, एनर्जेटिक अवार्ड शालू चोरे ,एक्टिव पार्टिसिपेट निधि अग्रवाल बेस्ट ग्रुप वीडियो -हास्य रस ,बेस्ट ग्रुप प्रेजेंटेशन रौद्र रस ,अर्ली बर्ड नागपुर रॉयल मैक्सिमम रजिस्ट्रेशन JC रायपुर नोबेल, बेस्ट लोम ड्रेसअप JC नागपुर सिल्वर ,बेस्ट ग्रूम एंट्री हाषॆर  रहे |

कार्यक्रम में JC varma के अध्यक्ष स्नेहा अग्रवाल ,लीना वाढेर ,रुपाली दुबे ,चंचल पलसानिया , आंचल पंजवानी , रूमा पटेल, शीतल उपाध्याय ,मीथजैन रश्मी  साव वर्क प्रोग्राम डायरेक्टर शिल्पा काबरा वह बहुत से सीनियर भी उपस्थित थे।