विक्रम उसेंडी और रामसेवक पैकरा ने थपथपाई दया सिंह की पीठ, बोले-बाबा के भक्ति में ऐसे ही रहें लीन

आदिवासी समाज की बेटी द्रौपदी मुर्मू के लिए भी दया ने कराया था महामृत्युंजय का जाप

सावन सोमवार के दूसरे सोमवार बाबा भोलेनाथ का मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की गई, जिलेभर के शिवालयों में भक्तों का तांता लगा रही। उसके तहत आज भिलाई के पावर हाउस स्थित राजराजेश्वरी मंदिर में शिवलिंग का जलाभिषेक कराया गया। बोल बम सेवा एवं कल्याण समिति की ओर से यह आयोजन बीते 15 वर्षों से कराया जा रहा है। सावन के दूसरे सोमवार पर पूजा-अर्चना करने के लिए छत्तीसगढ़ के दो दिग्गज राजनेताओं ने शिरकत की। भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष, पूर्व सांसद विक्रम उसेंडी और छत्तीसगढ़ सरकार में हैवीवेट कैबिनेट मंत्री रहे रामसेवक पैकरा भोले बाबा के दर पर शीश झुकाया।

पूर्व भाजपा अध्यक्ष व पूर्व सांसद विक्रम उसेंडी ने कहा कि, भोले बाबा सबकी मुराद पूरी करते हैं। सावन सोमवार का विशेष महत्व होता है। बाबा सबकी सुनते हैं और उनकी कृपा सबके ऊपर रहती है। छत्तीसगढ़ और देश पर भी भोलेनाथ की कृपा सदैव रही है। बोल बम सेवा एवं कल्याण समिति की तारीफ करते हुए उसेंडी ने कहा कि, भिलाई में बोल बम समिति बाबा की भक्ती में लगी हुई है। सावन पर शानदार महाभिषेक हुआ। मेरा सौभाग्य है कि मैं सोमवार के दिन भिलाई आकर बाबा का महाभिषेक किया। बाबा की बारात भी भिलाई में निकाली जाती है। यह छत्तीसगढ़ में प्रसिद्ध है। दया सिंह और उनकी टीम को ढेर सारी बधाइयां।

पूर्व कैबिनेट रामसेवक पैकरा ने दया सिंह और उनकी टीम की पीठ थपथपाते हुए कहा कि, सावन के दूसरे सोमवार पर भोलेनाथ की अराधना करने का अवसर मुझे मिला। यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है। दया सिंह ने सिर्फ मुझे एक कॉल किया और भोले बाबा का आशीर्वाद लेने पहुंच गया। इससे पहले भी मैं भिलाई आया हूं। भोले की भक्ति में दया की टीम हमेशा लीन रही हैं। समाजसेवा के क्षेत्र में बोल बम समिति बढ़िया काम कर रही है l

समिति के अध्यक्ष दया सिंह ने बताया कि मंदिर में 101 दूध और 10 लीटर, 10 लीटर दही-शहद-घी का पंचामृत से महाभिषेक किया गया। भोलेनाथ की अराधना करते हुए कान्हा महाराज और अन्य पंडितों द्वारा मंत्रोंच्यार के साथ महाभिषेक संपन्न हुआ। पूजा-अर्चना के बाद भोलेनाथ को भोग कराया गया। इस दौरान वहां मौजूद साधु-संतों को भोग व प्रसादी का वितरण किया गया l भाजपा पार्षद रिकेश सेन, वीणा चंद्राकर, सत्यदेवी जैसवाल, ईश्वरी नेताम, सरिता बघेल, लक्ष्मी साहू, शकुतला साहू, गिरजा बंछोर, संजय सिंह अन्य सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे l