‘ED, IT, CBI का उपयोग राजनीतिक उद्देश्य को लेकर’, CM भूपेश बघेल बोले- झारखंड इसका प्रमुख उदाहरण

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र की मोदी सरकार और ईडी पर फिर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि गैर भाजपा शासित राज्‍यों में ईडी दबाव बनाने का काम कर रही है। पिछले 8 सालों के दौरान ईडी का इतिहास देखेंगे तो पता चल जाएगा कि जो भाजपा का विरोध करेगा उसे ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) अपना निशाना बनाएगी। मैं कहता रहा हूं कि गैर-भाजपा शासित राज्यों को अस्थिर करने के लिए ईडी, आईटी और सीबीआई का इस्तेमाल किया जा रहा है। झारखंड इसका प्रमुख उदाहरण है। छत्तीसगढ़ के बारे में बोलता तो भाजपा के लोग हंसी उड़ाते हैं। उनका उद्देश्य विपक्षियों का दबाना है।

सीएम भूपेश बघेल ने महाराष्ट्र के शिवसेना सांसद संजय राउत को ईडी द्वारा हिरासत में लिए जाने को लेकर कहा कि ईडी एक राजनीतिक उद्देश्य को लेकर काम कर रही है। केंद्र के खिलाफ जो भी बोलता है उसकी जांच होती है। महाराष्ट्र में सरकार को अस्थिर किए। उन्होंने कहा कि 8 साल में ईडी ने सिर्फ विपक्ष को निशाने पर लिया है। भाजपा शासित राज्यों, भाजपा नेता या उनके संगठन से जुड़े लोगों की जांच नहीं होती। मैं यह नहीं कहता कि गलत लोगों की जांच नहीं होनी चाहिए, लेकिन विपक्षी दलों पर टार्गेट करके कार्रवाई किया जाना गलत है। सीएम भूपश ने कहा कि ईडी-आईटी जब छापा डालते है तो कोई बात नहीं है, लेकिन ये कहते हैं कि उनका नाम लो, इनका नाम लो। यह गलत है। ऐसी कार्रवाई का हम विरोध करते हैं।

गुजरात मॉडल से जेब खाली हो रहा  
सीएम भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ मॉडल और गुजरात मॉडल को लेकर कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशनों पर करोड़ों रुपये खर्च कर संवारती है और उसके बेच देती है। अब 75 रेलवे स्टेशन को चिन्हांकित किए हैं। केंद्र सरकार पैसा लगाकार चकाचक करेगी फिर उसे नीलाम कर देगी। जनता की जेब से पैसा निकालने का काम केंद्र सराकर कर रही है। पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस के दाम लगातार बढ़ा रहे हैं। यह गुजरात मॉडल है। आम जनता की जेब में पैसा डाला जा रहा है। मेहनतकश लोगों को सम्मान कैसे मिले, उनका इनकम कैसे बढ़ाया जाए। यह छत्तीसगढ़ मॉडल है।

काम की तारीफ से बढ़ता है आत्मविश्वास
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन द्वारा छत्तीसगढ़ सरकार की सुराजी योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बारी की तारीफ पर भूपेश बगेल ने कहा कि इसलिए इतने बड़े अर्थशास्त्री (रघुराम राजन) ने हमारे योजनाओं की तारीफ की है। जब इतने बड़े अर्थशास्त्री आपके काम की तारीफ करते हैं, तो काम करने के प्रति आत्मविश्वास बढ़ता है। सीएम भूपेश बघेल ने डीए को लेकर कर्मचारियों संगठनों के हड़ताल पर जाने को लेकर कहा कि हमेशा बातचीत के द्वार खुले हुए हैं। कर्मचारी संगठन द्वारा वेतन कटौती के आदेश की प्रति फाड़ने पर उन्होंने कहा कि मुझे इसकी जानकारी नहीं है।