गरियाबंद- वनो से अछादित रत्नगर्भा भूमि के गर्भ से स्वयंभू प्रगट होने वाले भूतेश्वरनाथ महादेव में आज सावन के अंतिम सोमवार में दर्शन हेतु लाखों की भीड़ उमड़ी जिन्हें संभलाने प्रशशान को काफ़ी मशक़्क़त करनी पड़ी चुकी कल सावन का अंतिम सोमवार है और लाखों के तादाद में कांवड़ियों का हुजूम भी भूतेश्वर महादेव पर जलअभिषेक चढ़ाने को आतुर पहुँच रहे है।
कल किया जाएगा भूतेश्वर नाथ महादेव का महाअभिषेक अनुमान है की इस महाभिषेक में हज़ारों की तादाद में भक्त शामिल होंगे जिसको ले कर तैयारी पूर्ण कर ली गई है,

उल्लेखनीय है कि यह प्राकर्तिक रूप से निर्मित शिवलिंग की आकृति और ऊँचाई निरंतर बढ़ती जा रही है इन्हें देखने वाले बताते है कि यह हर वर्ष विशाल काय वाँ ऊपर की ओर बढ़ रहा है,
ग़ज़ब के उत्साही और अलग अलग वेशभूषा धारण किए कांवड़ियों से बात करने पर पता चला की 100 किलोमीटर की दूरी से भी अधिक पैदल यात्रा कर यहाँ पहुँचे है कांवड़ियों अलग अलग जत्थों में डी॰जे॰ की धुन में थिरकते हुए कावड़िया रिमझिम बारिश का भरपूर मज़ा लेते हुए भोलेनाथ के संगीत से सराबोर हो कर अपने प्रभु के दर्शन करने पहुँचे

सावन सोमवार का अंतिम रविवार होने के चलते दर्शनार्थी आस पास के राज्यों सहित राजधानी से बडी तादाद में श्र्धालु पहुँचे जिनके लिए यहाँ भूतेश्वर नाथ परिसर सहित रास्तों में विभिन्न जगहों पर भव्यतम भंडारा भोज का आयोजन किया गया,

भक्तों को कोई परेसानी ना हो इसके लिए पुलिस अधीक्षक जे॰आर॰ ठाकुर एवं अनुविभागिय अधिकारी पुष्पेंद्र नायक ने भी कमान संभालीं थी ज़िले में राजिम से ले कर भूतेश्वर नाथ तक सड़क सुरक्षा से ले कर शांति बनाए रखने तक पुलिस की पूरी टीम ने जमकर सराहनीय कार्य किया