बालोद जिले के गुंडरदेही विधानसभा क्षेत्र में 122 कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता व पदाधिकारी की इस्तीफा के मामले में एक नया मोड़ आ गया है ।वही इस सूची में जिन कार्यकर्ताओं का नाम आया है उनका कहना है कि उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है ।

कांग्रेस के निष्कासित बूथ अध्यक्ष केदार देवांगन ने स्वयं इस्तीफा देने की बात करते हुए हमसे हस्ताक्षर कराया था । हम पहले और अब भी है कांग्रेस पार्टी के प्रति समर्पित | वही क्षेत्र के विधायक व संसदीय सचिव ने कहा निजी स्वाथ्य के लिए बदनाम करने की मंशा से पद से निष्कासित व्यक्ति द्वारा साजिश रचा गया था…ऐसे लोगों को पार्टी से निकाल देना ही उचित है, नहीं तो पार्टी को नुकसान होगा।

बहरहाल छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के 4 साल के कार्यकाल पूरे हो चुके हैं अब महज 1 वर्ष का कार्यकाल शेष रह गया है ऐसे में तमाम राजनीतिक पार्टी 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर रूपरेखा बनाने में जूटे हैं तो वही गुंडरदेही कांग्रेस आपस की खींचतान में लगे हैं जो पार्टी के लिए शुभ संकेत तो कदाचित नहीं है ।