ठाकुर अनुकूल देव वार्ड स्थित सीमांचल नगर में भगवान गंगाधर शिव की विशाल प्रतिमा के साथ ही श्री नर्मदेश्वर शिव की स्थापना के अनुष्ठान का दूसरा दिन, माई दंतेश्वरी मंदिर से निकली भव्य शोभायात्रा का पूरे शहर में कई जगहों पर हुआ स्वागत

जगदलपुर। शहर के ठाकुर अनुकूल देव वार्ड स्थित सीमांचल नगर में भगवान गंगाधर शिव की विशाल प्रतिमा के साथ ही श्री नर्मदेश्वर शिव की स्थापना का भव्य अनुष्ठान के तीसरे दिन बुधवार को सुबह सूर्य नमस्कार, गो पूजन, यज्ञ मंडप पूजन, देवता अधिवास, महास्नान, आवाहित यज्ञ मंडप देवता होम के बाद भगवान श्री नर्मदेश्वर शिव को नगर भ्रमण कराया गया।

शहर के माई दंतेश्वरी मंदिर से शुरू हुई भगवान श्री नर्मदेश्वर शिव के साथ शोभायात्रा का यहीं सनातन क्षेत्रीय मंच (सक्षम) और समाजसेवी अनिल लुंकड़ ने स्वागत किया।

इसके बाद शोभायात्रा भगवान जगन्नाथ मंदिर पहुंची, जहां 360 घर आरण्यक ब्राह्मण समाज ने, माता मावली मंदिर में यादव समाज और हिन्दू युवा वाहिनी ने स्वागत किया।

 

इसके बाद शोभायात्रा गोल बाजार चौक पहुंची, जहां सिंधी समाज के लोगों ने, जे. महेन्द्रकांत ज्वेलर्स के सामने सराफा संघ, नानेश ज्वेलर्स के सामने बस्तर चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज,

नॉवेल्टी चौक पर उत्कल समाज ने, महावीर चौक पर जैन समाज ने, एसबीआई चौक पर साईं सेवा समिति, कोतवाली चौक पर बस्तर क्षत्रिय धाकड़ राजपूत समाज, झंकार चौक पर आंध्र समाज, शहीद पार्क तिराहे पर सर्व ब्राह्मण समाज व बंगाली समाज,

लक्ष्मी सॉ मिल पर गायत्री परिवार, जलाराम मंदिर पर गुजराती समाज, रामदेव मंदिर मोड़ पर पार्षद दिगंबर राव, कुम्हारपारा चौक पर जनता कांग्रेस, भवानी चौक पर बस्तर राजपूत समाज, केंद्रीय विद्यालय के सामने भाजपा नेत्री गीता नाग ने, माडिन चौक पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने,

आनंद ढाबा चौक पर बस्तर परिवहन संघ ने और ज्योति नर्सरी मोड़ पर स्वामी विवेकानंद व ठाकुर अनुकूल देव वार्ड के सभी वार्डवासियों ने शोभायात्रा का स्वागत करते हुए

भगवान श्री नर्मदेश्वर शिव के दर्शन किये। इसके उपरांत कीर्तन, रात्रि देवता पीठ न्यास के साथ भजन संध्या आयोजित हुई, जहां शहर सहित आसपास के कलाकारों ने शिव भजनों की प्रस्तुति दी।

शोभायात्रा के दौरान जहां पूरा शहर शिव की भक्ति में डूब गया, वहीं शोभायात्रा में शामिल विभिन्न समाजों के सैकड़ों लोगों ने शिव के जयकारे भी लगाए। पूरा शहर श्री नर्मदेश्वर शिव की भक्ति में सराबोर रहा। शोभायात्रा में शामिल लोग माथे पर त्रिपुंड लगाकर शिव गणों की तरह चलते रहे।

आज के अनुष्ठान

गुरूवार को सुबह 7.52 बजे सूर्य नमस्कार के बाद 8.55 बजे गो पूजन, 9.30 बजे से यज्ञ मंडपपूजन, 10.30 बजे से महान्यास पारायण के बाद दोपहर 12.10 बजे अभिजीत मुहूर्त व स्थिर लग्न स्थिर नवांश में भगवान श्री नर्मदेश्वर पीठ स्थापना संपन्न होगी।

दोपहर 1.30 बजे से महालिंगार्चना, महारूद्राभिषेक, सहस्र नामार्चना, रूद्र होम पूर्णाहूति शाम 4 बजे संपन्न होगी। इसके बाद शाम 5.30 बजे से भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा।