सोनाली फोगाट की मौत के मामले में बड़ा अपडेट हुआ है. गोवा में अंजुना बीच किनारे कर्लिस रेस्टोरेंट का मालिक गिरफ्तार किया गया है. कर्लिस रेस्टोरेंट के बाथरूम में ड्रग्स मिला था. इसके अलावा ड्रग पेडलर को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. सिन्थेटिक ड्रग्स उसी बाथरूम से मिला जहां सोनाली गईं थीं. सोनाली फोगाट की अचानक हुई मौत ने कई सवाल खड़े किए हैं. पहले कहा जा रहा था कि उनकी मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई है. जबकि बाद में शक की सुई PA सुधीर सांगवान पर घूम गई. अब यह पूरा मामला ड्रग थ्योरी पर आ गया है.

पुलिस का दावा है कि सोनाली फोगाट को उनके सहयोगियों ने जबरन MDMA ड्रग्स दी थी. इस मामले में एक बड़ी जानकारी भी सामने आई है. बताया जा रहा है कि सुधीर को MDMA ड्रग्स देने वाले ड्राग पैडलर की पहचान कर ली गई है. सुधीर ने गोवा के रहने वाले इसी पैडलर से ड्रग्स ली थी. अब इस पैडलर की तलाश में अलग-अलग इलाको में छापेमारी शुरू हो गई है. कहा जा रहा है कि सुधीर सांगवान काफी पहले से इस पैडलर के संपर्क में था. सोनाली फोगाट की मौत के मामले में अब तक 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें सुधीर सांगवान, सूखविंदर सिंह, कर्ली मालिक, ड्रग पेडलर शामिल हैं.

फोगाट के ड्रिंक में मिलाया नशीला पदार्थ

गौरतलब है कि फोगाट के भाई रिंकू ढाका ने अंजुना थाने में दो सहयोगियों सुधीर सांगवान और सुखविंदर वासी के खिलाफ बुधवार को शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि सोनाली फोगाट के ड्रिंक में उनके दो सहयोगियों ने एक पार्टी के दौरान नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया था और इसकी भी संभावना है कि इसी के चलते फोगाट की मौत हुई. सोनाली फोगाट के अंतिम संस्कार से कुछ समय पहले उनके भाई रिंकू ढाका ने कहा था कि सच्चाई को सामने लाने के लिए गहनता से जांच करने की जरूरत है. ढाका ने कहा, ‘सुधीर सांगवान का व्यवहार ठीक नहीं था. पहले ऐसी शिकायतें थीं कि वह पार्टी कार्यकर्ताओं को सोनाली से मिलने नहीं देते हैं.’

आरोपियों ने स्वीकार की बात

गोवा पुलिस ने शुक्रवार को बताया था कि बीजेपी की नेता सोनाली फोगाट के ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाया गया था और ये काम उनके दो सहयोगियों ने एक पार्टी के दौरान किया था. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि 42 वर्षीय फोगाट की हत्या के पीछे की वजह ‘आर्थिक हित’ हो सकती है. उन्होंने कहा कि दोनों आरोपियों – सुधीर सांगवान और सुखविंदर सिंह – को गिरफ्तार कर लिया गया है, ताकि वे सबूतों से छेड़छाड़ और गवाहों को प्रभावित नहीं कर सकें. वहीं, पुलिस महानिरीक्षक ओमवीर सिंह बिश्नोई ने बताया कि दोनों आरोपी सोनाली के ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाते देखे गए थे. सांगवान और सिंह दोनों 22 अगस्त को फोगाट के साथ गोवा गए थे. बिश्नोई ने बताया कि आरोपियों ने पुलिस पूछताछ के दौरान उत्तरी गोवा में अंजुना के रेस्टोरेंट में फोगाट को जानबूझकर नशीला पदार्थ पिलाने की बात स्वीकार की है. यह घटना 22-23 अगस्त की मध्यरात्रि की है.