जगदलपुर/ एक वर्ष पहले अपने दोस्त की हत्या के मामले में फरार आरोपी को बोधघाट पुलिस ने विजयवाड़ा से गिरफ्तार करते हुए उसे जगदलपुर लाई, जहां उसे न्यायालय में पेश किया गया, हत्या का कारण आरोपी का मृतक की पत्नी से प्यार करने की बात भी सामने आई है,

मामले के बारें में जानकारी देते हुए नगर पुलिस अधीक्षक हेमसागर सिदार ने बताया कि 18 दिसम्बर 2020 में ग्राम आड़ावाल नयापारा में नंदू जंगम उम्र 46 वर्ष, निवासी आड़ावाल का शव संदिग्ध परिस्थितियों में मिला था, मामले में घटनास्थल का निरीक्षण करने व शव के पोस्टमार्टम एवं परिस्थितिजन्य सबूतों के आधार पर मामले में हत्या का मामला दर्ज किया गया, वही आरोपी श्रीनिवास बिरेली के विरूद्ध थाना बोधघाट में हत्या का मामला दर्ज करते हुए धारा 302 भादवि का अपराध दर्ज कर जांच मे लिया गया है, मामले का आरोपी श्रीनिवास बिरेली जो मद्देड़ जिला बीजापुर का मूल निवासी है, उसका नंदू जंगम भी मद्देड का ही निवासी है, श्रीनिवास बिरेली का नंदु के परिवार से पुराना जान पहचान और परिचय था।साथ ही श्रीनिवास का नंदू जंगम की पत्नी से प्यार भी करता था, तत्पश्चात् नंदू जंगम बीजापुर से जगदलपुर आड़ावाल आकर रहने लगा था। इस पर आरोपी श्रीनिवास भी जगदलपुर में आकर रहने लगा था, और एक सप्ताह तक आडावाल मारकेल क्षेत्र में था। और 18 दिसंबर 2020 को आड़ावाल नयापारा में आरोपी श्रीनिवास बिरेली के द्वारा नंदू जंगम जो शाम को घर के लिए दुध लेने गया था, उस दौरान अकेला देखकर मौका पाकर अपने पास रखे धारदार बंडा से प्राणघातक हमला कर नंदू जंगम की हत्या कर दिया और मौके से फरार होकर विजयवाडा चला गया और अपना वेशभुषा बदलकर आरोपी श्रीनिवास बिरेली जो पिछले 21 माह से विजयवाडा में कुली-मजदूरी का काम कर रहा था, पुलिस की टीम ने आरोपी की जानकारी मिलने के बाद उसे विजयवाड़ा से गिरफ्तार करके जगदलपुर लाई, इस आरोपी को पकड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले अधिकारी जिसमें निरीक्षक लालजी सिन्हा, लीलाधर राठौर, उप निरी प्रमोद ठाकुर, सउनि सतीश यादव, प्रआर नितेश मेश्राम, आर गायत्री तारम, तोमेश्वर चन्द्राकर थे