बिलासपुर। CG NEWS : बस कंडक्टर की ईमानदारी ने महिला के साथ ही पुलिस का भी दिल जीत लिया है। दरअसल, रायपुर की महिला सफर करते समय अपने पर्स को बस में ही छोड़ दी। पर्स में सोने-चांदी के गहनों के साथ नगदी पैसे रखे थे। घबराई महिला को जब तक इसका पता चला। बस निकल गई थी, लेकिन पर्स बस कंडक्टर के हाथ लग गया, जिसे उन्होंने बिना चेक किए पुलिस के पास जमा करा दिया। मंगलवार को पुलिस ने कंडक्टर की मौजूदगी में महिला को उनके गहने सौंप दिए।

 

 

जानकारी के अनुसार रायपुर की रहने वाली ममता जांगड़े बीते रविवार को RBS बस से बिलासपुर के लिए निकलीं थीं। बिलासपुर पहुंचने के बाद वह अपना पर्स भूल गई, और उतर कर अपने घर के लिए निकल गईं। तभी अचानक महिला को पर्स का ध्यान आया। परेशान महिला तत्काल वापस बस स्टैंड पहुंची, तब तक बस वहां से रवाना हो गई थी। पर्स में सोने-चांदी के गहनों और पैसों के साथ चार लाख का माल था। लिहाजा, घबराई महिला सिरगिट्‌टी थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई थी।

 

पर्स जमा कराने थाने पहुंचा कंडक्टर ईश्वर सिंह ठाकुर

दीनदयाल कॉलोनी निवासी ईश्वर सिंह ठाकुर RSB बस में कंडक्टर हैं। बस में पर्स देखकर ईश्वर सिंह ने उसे अपने पास रख लिया था, जिसे उन्होंने सिरगिट्‌टी थाने में जमा करा दिया। इधर, पुलिस ने पर्स मिलने पर महिला ममता जांगड़े को इसकी सूचना दी।

 

महिला को लौटाए आभूषण और पर्स

पुलिस के बुलावे पर महिला मंगलवार को सिरगिट्‌टी थाने पहुंची। इस दौरान कंडक्टर ईश्वर सिंह ठाकुर की मौजूदगी में महिला ने पर्स चेक किया, जिसमें सभी गहनों के साथ पैसे भी थे। पुलिस ने महिला को पर्स लौटा दिया। पुलिस ने ईमानदारी की मिसाल पेश करने के लिए ईश्वर सिंह को धन्यवाद दिया।