CG NEWS : सूरजपुर। में बस यात्री अपनी जान को जोखिम में डालकर यात्रा करने को मजबूर हैं, वही आरटीओ विभाग की निष्क्रियता कई सवाल खड़े करता है, सूरजपुर मुख्यालय का बस स्टैंड अंतर राज्यीय बस स्टैंड है, जहां से देश के कई प्रदेशों के लिए बसे चलती हैं, साथ ही साथ बड़ी संख्या में लोकल बसों में भी यात्री सफर करते हैं, बावजूद इसके आरटीओ विभाग और बसों के मालिको की सांठगांठ का नतीजा यह है कि यहां ज्यादातर बसों में सुरक्षा के इंतजाम नदारद हैं, साथ ही आरटीओ के किसी भी नियम का पालन नहीं किया जा रहा है.

लगभग सभी बसों में ना तो सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं, ना ही फर्स्ट एड बॉक्स मौजूद हैं, बस के ड्राइवर न तो ड्रेस में रहते हैं और ना ही सीट बेल्ट लगाते हैं, महिलाओं की आरक्षित सीट पर भी आम लोगों का कब्जा रहता है, इन सब असुविधाओं के बीच यात्री अपनी जान को जोखिम में डालकर यात्रा कर रहे हैं, वही जब हमने इन समस्याओं को लेकर आरटीओ अधिकारी से बात की, तो वे अब कार्यवाही की बात कर रहे हैं.

आपको बता दें कि जिले में लापरवाही की वजह से कई बड़े हादसे हो चुके हैं, इसके बावजूद इसके ना तो बस मालिक और ना ही आरटीओ विभाग को कोई फर्क पड़ता दिख रहा है, जब बड़ी दुर्घटना होती है तब खानापूर्ति कर मामले को रफा-दफा कर दिया जाता है,अब सवाल यह है कि आखिर कब तक इनकी गलतियों का खामियाजा आम लोग भुगत ते रहेंगे।