बीजापुर। मलेरिया और एनीमिया से पीड़ित एक छात्रा ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया है।पिछले कई दिनों से बीमार थी। जिसे जिला अस्पताल में भर्ती( admit) करवाया गया था। जहां उसकी मौत ( death) गई। मामला जिले के उसूर थाना क्षेत्र का है।

Read more : CG News : कार एसेसरीज की दुकान में लगी आग, लाखों का सामान जलकर खाक

जानकारी के मुताबिक, उसूर के पोस्ट मैट्रिक आश्रम में रहकर पढ़ाई करने वाली 11वीं की छात्रा सुशीला पुनेम पिछले कई दिनों से बीमार थी। टेस्ट में एनीमिया और मलेरिया ग्रसित होना पाया गया था। जिसके बाद वह रोजाना हॉस्टल ( hostel)में ही दवा लेकर रहती थी। लेकिन उसकी अचानक तबीयत बिगड़ गई।

परिजनों ने हॉस्टल वॉर्डन पर लापरवाही ( careless )का आरोप

देर शाम इलाज के दौरान सुशीला ने दम तोड़ दिया। BEO संतोष गुप्ता ने मौत की पुष्टि की है। इधर, छात्रा की मौत के बाद परिजनों ने हॉस्टल वॉर्डन पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

दूसरी कक्षा के छात्र की भी हुई थी मौत

 

बीजापुर( bijapur) जिले में कुछ दिन पहले दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र की मलेरिया से मौत हो गई थी। छात्र तामोड़ी के आश्रम-शाला में रहकर पढ़ाई करता था। वह 3 दिनों से बीमार था। आश्रम के अधीक्षक ने दवा दी थी, जिसके बाद छात्र सो गया। फिर दूसरे दिन सुबह उसने आंख नहीं खोली।