Chhattisgarh Crime News : छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh)के अंबिकापुर (Ambikapur)पुलिस ने तीन शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए चोरों ने SBI के एटीएम से 2.10 लाख रुपये निकाल लिए। इसके लिए बकायदा किराये पर डेबिट कार्ड (Debit Card) लेकर आते और उसका इस्तेमाल करते। पुलिस ने आरोपियों के पास से अलग-अलग बैंकों के 120 डेबिट कार्ड, एक स्विफ्ट कार, चार मोबाइल और एक लाख 20 हजार रुपये बरामद किए हैं। पकड़े गए तीनों आरोपी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जालौन के रहने वाले हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी शहर के एक होटल से की गई है।

 

दो दिन में एटीएम से किए गए 46 ट्रांजेक्शन
जानकारी के मुताबिक, शहर में एसबीआई के एटीएम से बार-बार रुपये कम हो रहे थे। एसबीआई के अफसरों की इसकी जांच की तो पता चला कि खाताधारकों के खाते में ट्रांजेक्शन फेल होने के कारण बैलेंस मेंटेन था। यह भी सामने आया कि 28 नवंबर को एटीएम से 21 ट्रांजेक्शन और 4 दिसंबर को 25 ट्रांजेक्शन कर दो लाख 10 हजार रुपये निकाले गए। इस पर अंबिकापुर स्टेट बैंक के कैश ऑफिसर गौतम दास ने सिटी कोतवाली में आपराधिक षड्यंत्र और धोखाधड़ी का मामला दर्ज करा दिया।

बस स्टैंड के पास होटल में छिपे थे आरोपी
इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की और एएसपी विवेक शुक्ला, सीएसपी स्मृतिक राजनाला और एसडीओपी अखिलेश कौशिक के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। जांच के दौरान पता चला कि कुछ संदिग्ध लोग बस स्टैंड के पास स्थित एक होटल में रुके हुए हैं। इस पर पुलिस ने होटल में छापा मारा और तीन युवकों को हिरासत में ले लिया। तलाशी के दौरान उनके पास मिले सैकड़ों की संख्या में डेबिट कार्ड को लेकर पूछताछ की गई तो उन्होंने एटीएम की टेंपरिंग कर धोखाधड़ी करना कबूल लिया।

यह आरोपी गिरफ्तार किए गए
एसपी भावना गुप्ता ने बताय कि जालौन निवासी नीरज निषाद (20), कपिल विश्वकर्मा (25) और अजय कुमार निषाद (19) को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोपियों के पास से अधिकांश डेबिट कार्ड एसबीआई के मिले हैं। ट्रांजेक्शन फेल होने के कारण नियमों के तहत बैंक खाते से कटी राशि तत्काल या कुछ देर बाद ही खाते में वापस आ जाती थी। इससे बैंक को सीधे नुकसान होता था। आरोपियों ने अपने क्षेत्र के कई लोगों से उनका डेबिट कार्ड और पासबुक ले ली थी। बदले में खाताधारक को कुछ रुपये देते थे।

आरक्षक की राशि निकालने वाले भी पकड़े गए
30 नवंबर को दरिमा के पुलिस आरक्षक अमित कुजुर का डेबिट कार्ड जाम कर धोखे से पिन नंबर की जानकारी लेकर 50,000 रुपये की ठगी करने के मामले में दो आरोपियों को पुलिस की टीम ने पलामू से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए अहमद रजा और खालिद अंसारी ने धोखाधड़ी कर एटीएम से रुपये निकालने की बात स्वीकार की है। आरोपी एक विशेष तरह का ग्लू लगाकर एटीएम को जाम देते थे।