रायपुर। RAIPUR NEWS : शुक्रवार को IIA नेशनल प्रेसिडेंट सी.आर. राजू द्वारा दिन दयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में नेटकौन 2023 की शुरुवात की. इस अवसर पर पश्चिम विधायक एवं संसदीय सचिव विकास उपाध्याय उपस्थित रहे। IIA एवं विधायक विकास उपाध्याय द्वारा देश के तीन आर्किटेक्ट का सम्मान भी किया। जिसमे मुंबई से आये सुप्रसिद्ध वास्तुविद प्रेम नाथ जिन्होंने डीडीयू ऑडिटोरियम का भी डिज़ाइन किया है उन्हें बाबूराव महात्रे गोल्डन अवार्ड से सम्मानित किया गया। इसके साथ प्रकाश देशमुख का भी बाबूराव महात्रे गोल्डन अवार्ड से सम्मानित किया गया। माधव अचवाल अवार्ड से वास्तुविद जीत कुमार गुप्ता का भी सम्मान किया गया।

इसके पश्चात टेक्निकल सेशन की शुरुवात हुई, जिसमे आज की कड़ी में आगे आज देश के प्रसिद्ध वास्तुविदों ने अपने डिज़ाइन के मध्यम से सभी को अवगत करा कर प्रेरित किया। इस कड़ी में सबसे पहले गुरजीत सिंह मथारू ने अपने कार्यों का प्रेजेंटेशन दिया। उसके बाद समीप पडोरा, प्रवीण बावड़ेकर, प्रसन्ना मोरे और सारिका शेट्टी ने अपने कार्यों का प्रेजेंटेशन दिया। देश- विदेश में चल रहे। सभी कार्यों ने सभी को प्रेरणा दी की छत्तीसगढ़ में भी इस तरह के कामों को बढ़ाने की आवश्यकता है।

इन्हें भी पढ़े- 7 th Pay Commission : फिटमेंट फैक्टर पर बड़ा अपडेट, 2023 में केंद्रीय कर्मियों की सैलरी में होगा बंपर इजाफा!

कार्यक्रम की अध्यक्षता आई आई ए छत्तीसगढ़ चैप्टर के अध्यक्ष राज प्रजापति ने की। इस कार्यक्रम संचालन सचिव सौरभ रहतगांवकर, नवीन शर्मा, रवि जग्गी, रवि चौहान, अतुल देशपांडे, रिदुल शर्मा, सिद्धांत शर्मा, शशांक निगम ने किया।
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ आर्किटेक्ट्स छत्तीसगढ़ चैप्टर की मेज़बानी में हुए। इस अधिवेशन में देशभर से विख्यात वास्तिविद जुटें। दो दिवसीय आयोजन 6-7 जनवरी को पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में संपन्न होगा। इसमें देशभर से 500 वास्तुविद एवं छत्तीसगढ़ से 650 वास्तुविद, सिविल इंजीनियर एवं इंटीरियर डिज़ाइनर सम्मिलित होंगे। दूसरे दिन 7 जनवरी को प्रथम सत्र में जाने माने वास्तुविद दिल्ली के मनीष गुलाटी, बैंगलुरु के इंजीनियर मंजुनाथ अपने विचार रखेंगे। दूसरे सत्र में कोलकाता के अबिन चौधरी व्याख्यान होगा। अधिवेशन में एनआईटी, एमिटी, आईटीएम और छत्तीसगढ़ के विभिन्न कॉलेज के छात्र छात्रायें हिस्सा लेंगे।