गरियाबंद 25 जनवरी / भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले में इस वर्ष भी 25 जनवरी को 13 वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया गया। भारत निर्वाचन आयोग का उद्देश्य इस समारोह के द्वारा 17-18 वर्ष आयु पूर्ण करने वाले लोगों में पंजीयन हेतु जागरूकता पैदा करना है। उक्त कार्यक्रम का आयोजन जिला स्तर पर वन विभाग के ऑक्शन हॉल में दोपहर 02 बजे से किया गया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अपर सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायालय (पॉक्सो) श्री राजभान सिंह, विशिष्ट अतिथि अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश गरियाबंद श्रीमती तजेश्वरी देवी देवांगन एवं अध्यक्षता जिला पंचायत सीईओ श्रीमती रोक्तिमा यादव ने किया। कार्यक्रम में भारत निर्वाचन आयोग  राजीव कुमार शुक्ला का संदेश का प्रसारण भी किया गया।


कार्यक्रम में अतिथियों ने मतदाता दिवस और मतदान की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए अपने विचार व्यक्त किए।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अपर सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायालय (पॉक्सो) श्री राजभान सिंह ने उद्बोधन में कहा की आपका एक वोट कीमती है, हर मतदाता को अपने वोट का उपयोग अवश्य किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा की भारत निर्वाचन आयोग एक संविधानिक संस्था है। देश में प्रजातांत्रिक व्यवस्था यहां की खूबसूरती है। यहां हर व्यक्ति को अपने जनप्रतिनिधि का चुनाव करने का अधिकार होता है। उन्होंने यह भी बताया कि मताधिकार एक विधिक अधिकार है।

विशिष्ट अतिथि अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश गरियाबंद श्रीमती तजेश्वरी देवी देवांगन ने अपने उद्बोधन में कहा कि मतदाता अपने मत का प्रयोग जरूर करें।युवा देश का भविष्य है।उन्होंने कहा कि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले प्रतिनिधि को नहीं चुनते हुए साफ सुथरी छबि वाले और धर्म जाति, संप्रदाय से ऊपर उठकर जनप्रतिनिधि का चुनाव करें।

इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ रोक्तिमा यादव ने कहा कि भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। मतदाताओं की सरकार बनाने में महत्वपूर्ण योगदान है। वोट डालना न केवल हमारा अधिकार है बल्कि कर्तव्य भी है। उन्होंने बी एल ओ की उत्कृष्ट कार्य की सराहना की। नए मतदाताओं को रजिस्ट्रेशन करने के लिए भी प्रेरित किया। इस अवसर पर अपर कलेक्टर अविनाश भोई, उप जिला निर्वाचन अधिकारी टी आर देवांगन एवम जिला निर्वाचन कार्यालय के कर्मचारी आधिकारी मौजूद थे।

: 25 जनवरी को हर साल भारत में राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है. यह दिन 1950 में भारत के चुनाव आयोग की स्थापना के दिन को चिह्नित करने के लिए मनाया जाता है. देश की जनता के लिए मतदान सबसे महत्वपूर्ण अधिकारों में से एक है जो लोकतंत्र में प्रत्येक व्यक्ति के पास है. वोट देने का अधिकार आम जनता को यह नियंत्रित करने में मदद करता है कि कौन शासन करेगा और आप अपने समुदाय या देश में किस प्रकार की विकास और कल्याण योजनाएं चाहते हैं. अक्सर देखा जाता है कि लाखों लोग इलेक्शन के दौरान मतदान की जिम्मेदारी से कतराते हैं या उन कदमों से अनजान होते हैं, जिन्हें एक जागरूक नागरिक के रूप में उन्हें उठाने की आवश्यकता होती है. इसे ठीक करने और लोगों को मतदान के लिए पंजीकरण करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है

राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023 थीम

चुनावों को समावेशी ( Inclusive), सुलभ (Accessible) और सहभागी (Participative) बनाना राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023 थीम का फोकस है. राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2023 थीम का लक्ष्य अधिक से अधिक लोगों को उनकी उम्र, लिंग, जातीयता या अन्य विशेषताओं की परवाह किए बिना चुनाव में मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करना है. भारतीय चुनाव आयोग पूरी मतदान प्रक्रिया में मतदाता पहुंच को आसान बनाने और बेहतर बनाने के उपायों पर भी ध्यान केंद्रित करता है

इस अवसर पर उत्कृष्ट कार्य के लिए बी एल ओ सहायक शिक्षक रेखराम ध्रुव एवम शिक्षक एल बी दिलीप कुमार सिन्हा को सम्मानित किया गया। साथ ही नोडल प्राध्यापक श्री चंद्रभान पटेल को उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया । साथ ही मतदाताओं को शपथ दिलाई गई एवम इपिक कार्ड वितरित किए गए।वहीं मतदाता दिवस के अवसर पर चित्रकला के लिए प्रथम स्थान सरिता विश्वकर्मा,निबंध के लिए सोनम ठाकुर,भाषण एवम रंगोली के लिए पुष्कर ठाकुर को सम्मानित किया गया। ज्ञात है की जिले में शत प्रतिशत इपिक एवम फोटो कवरेज है।