बुराई पर अच्छाई की जीत के तौर पर मनाया जानें वाला होली का त्योहार धार्मिक नजरिए से बहुत शुभ माना जाता है. होली के रंग खेलने से एक दिन पहले होलिका दहन की परंपरा है. फाल्गुन माह की पूर्णिमा पर पड़ने वाली यह तिथि इस बार 07 मार्च 2023 को पड़ रही है. होली से जुड़े ऐसे कई नियम हैं जिनका पालन करना बहुत आवश्यक माना जाता है, खास करके नवविवाहितों को इन नियमों का पालन करना चाहिए. माना जाता है कि जिन लड़कियों की शादी हाल ही मे हुई हैं उन्हें होलिक दहन की अग्नि को नहीं देखना चाहिए. इसके अलावा भी कई नियम हैं जिनका पालन करना चाहिए. आइए जानते हैं क्या हैं वो नियम.

किस रंग के पहने कपड़े

होली के दिन नई दुल्हनों को काले रंग के कपड़े पहनने से बचना चाहिए, क्योंकि इसे अशुभ माना जाता है. मान्यता है कि काला रंग नकारात्मक ऊर्जाओं को ज्यादा आकर्षित करता है, क्योंकि होलाष्टक के दिन निगेटिव शक्तियों का प्रभाव ज्यादा होता है इस लिए इस रंग को पहनने से बचना चाहिए. इसके अलावा जिन महिलाओं की शादी के बाद पहली होली है उन्हें सफेद कपड़ नहीं पहनना चाहिए. इसके बजाए नई दुल्हन पीला या लाल रंग पहन सकती है.

ससुराल में न मनाए होली

धार्मिक मान्यता के अनुसार नवविवाहिता को शादी के बाद पड़ने वाली पहली होली को अपने ससुराल में नहीं मनाना चाहिए. मान्यता है कि इससे घर की सुख-शांति प्रभावित होती है. नवविवाहिता के लिए पहली होली ससुराल में खेलना अशुभ माना जाता है. ऐसा करने से आपके रिश्ते भी खराब हो सकते हैं इसके अलावा आपका और आपके पार्टनर के साथ कुछ अशुभ भी घट सकता है.

शादी का समान न दें किसी को

जिन महिलाओं की शादी हाल ही में हुई है उन्हें शादी में मिले सामान को किसी को दान नहीं करना चाहिए. माना जाता है कि होलिका के दिन तंत्र-मंत्र से होने वाली विद्याओं का प्रभाव अधिक होता है और सामान देनें पर उसका उल्टा प्रभाव पड़ता है.