गुजरात विधानसभा ने एक प्रस्ताव पारित कर राज्य में 2002 में हुए दंगों पर डॉक्यूमेंट्री( documentary) बनाने वाले BBC के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का केंद्र सरकार से अनुरोध किया। गुजरात के गृह मंत्री मंत्री हर्ष सांघवी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने अपना पूरा जीवन राष्ट्र की सेवा के लिए समर्पित कर दिया, विकास के साधन को हथियार बना लिया और देश विरोधी तत्वों को करारा जवाब दिया।

Read more : High Court : जस्टिस सोनिया गोकानी, जो बनेंगी गुजरात हाई कोर्ट की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश

बीबीसी की इस डॉक्यूमेंट्री में गोधरा ट्रेन अग्निकांड के बाद हुए दंगों के कुछ पहलुओं की पड़ताल करने का दावा किया गया है. उन दंगों के समय नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे. बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री के रिलीज होने के कुछ ही समय बाद भारत में इस पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. पटेल ने भाजपा विधायकों मनीषा वकील, अमित ठाकेर, धवलसिंह जाला और मंत्री हर्ष सांघवी के समर्थन से यह प्रस्ताव पेश किया था।

बीबीसी( bbc) की दो हिस्से वाली डॉक्यूमेंट्री ‘इंडिया: द मोदी क्वेश्चन’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की छवि और लोकप्रियता को धूमिल करने के लिए ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन (BBC) के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक विपुल पटेल ने सदन में कहा कि बीबीसी की दो हिस्से वाली डॉक्यूमेंट्री ‘इंडिया: द मोदी क्वेश्चन’ (India: The Modi Question) में 2002 की घटनाओं को गलत तरीके से पेश करते हुए विश्व स्तर पर भारत की छवि को खराब करने का प्रयास किया गया है।