रायपुर। छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र बॉर्डर पर माओवादियों ने एक छात्र की हत्या करके उसके शव को गांव में फेंक दिया है। युवक गढ़चिरौली में रहकर सरकारी नौकरी की तैयारी करता था। होली में अपने घर गया हुआ था। माओवादियों ने पुलिस की मुखबिरी के शक में युवक का पहले अपहरण किया और फिर मार डाला।  मामला जिले के भामरागढ़ थाना क्षेत्र का है।

Read more :छत्तीसगढ़ दर्दनाक हादसा : भाई के साथ मायके जा रही थी बहन… तेज रफ्तार हाइवा ने कुचला… मौके पर हुई दोनों की मौत

जानकारी के मुताबिक, युवक साईनाथ नरोट (26) गढ़चिरौली जिले के नक्सल प्रभावित गांव मर्दूहूर का रहने वाला था। जो पिछले कई सालों से गढ़चिरौली में रहकर पढ़ाई करता था। करीब 4 से 5 दिन पहले होली की छुट्टियों में अपने गांव लौटा था। किसी काम से गुरुवार को वह गांव से बाहर निकलकर जंगल के रास्ते कहीं जा रहा था। जिसकी सूचना नक्सलियों को मिली। ग्रामीण वेशभूषा में पहुंचे करीब 5 से 7 माओवादियों ने उसका अपहरण कर लिया। और फिर पुलिस की मुखबिरी का आरोप लगा कर गोली मार दी।घटना सामने आने से पूरे जिले में सनसनी फैल गई है.।