CG NEWS : कोरबा। में जंगली सुअर का शिकार करने को बिछाए गए करंट की चपेट में आने से ग्रामीण गम्भीर रूप से घायल हो गया। घटना की जानकारी होने पर परिजन आनन-फानन में मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंचे जहां उसकी हालत गम्भीर बनी हुई है।  करतला वन परिक्षेत्र अंतर्गत बरपाली का यह घटना है। जहां बरपाली भांठापारा निवासी 53 वर्षीय महेश श्रीवास अपने खेत से लकड़ी लेने जंगल गया हुआ था। वापस लौटते समय करंट की चपेट में आने से वह गम्भीर रूप से घायल हो गया।

ये भी पढ़ें-RAIPUR BREAKING : केंद्र के खिलाफ कांग्रेस ने किया राजभवन घेराव, मुख्यमंत्री बघेल बोले – केंद्र ने सरकारी एजेंसियों पर कब्जा किया हुआ है  

महेश की माने तो वो और उसके परिजन गांव से लगे कुरसिया जंगल में खेत पर लकड़ी कटाई कर रखा हुआ था, जिसे वो लेने के लिए गांव का ट्रैक्टर किराया कर लेने गया हुआ था. देर शाम होने के बाद ट्रैक्टर पर लकड़ी लोड होने के कारण वो और उसके परिजन गांव से लगे पगडंडी वाले रास्ते से वापस लौट रहे थे, तभी अचानक 11 केवी से लगे विद्युत तार की चपेट में आने से बुरी तरह महेश झुलस गया। एक साल पहले एक ग्रामीण और दो दिन पहले ही दो मवेशियों की करंट लगने से उसी जगह पर मौत हुई थी. घटना की जानकारी वन विभाग को भी है, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं, जिसके चलते जंगली जानवर मर ही रहे हैं. ग्रामीण भी इसका शिकार हो रहे हैं।

ये भी पढ़ें-RAIPUR BREAKING : केंद्र के खिलाफ कांग्रेस ने किया राजभवन घेराव, मुख्यमंत्री बघेल बोले – केंद्र ने सरकारी एजेंसियों पर कब्जा किया हुआ है  

बड़े स्तर पर जंगली जानवरों का शिकार

कुछ दिनों पहले ही बालको वन परिक्षेत्र में जंगली सुअर का शिकार करने बम बिछाया गया था. बम की चपेट में आने से बच्चे की खौफनाक मौत हो गई थी. इस मामले में वन विभाग, बालको पुलिस और वन विभाग जांच में जुटी हुई है, लेकिन अब तक आरोपी पकड़ से बाहर है.

वहीं, पसान इलाके में पति पत्नी जंगल के हुए थे जहां जंगली जानवर के शिकार करने को बम लगाया गया था बम की चपेट में आने से पति पत्नी घायल हो गए थे। इस मामले में भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।