पंजाब। Amritpal Singh Arrested : खालिस्तान समर्थक और भगोड़े अमृतपाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है. पंजाब पुलिस ने मोगा गुरुद्वारे से उसे गिरफ्तार किया गया है. पंजाब पुलिस की ओर से ट्वीट कर इसकी जानकारी दी गई है. वह कई दिनों से फरार चल रहा था. अमृतपाल सिंह खालिस्तान समर्थक है। अमृतपाल सिंह ने मोगा के रोड़ा गांव में आत्मसमर्पण किया। अमृतपाल सिंह का साथी पपलप्रीत सिंह पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका था, तभी से अटकलें चल रही थीं कि अमृतपाल सिंह जल्द गिरफ्तार हो सकता है। अमृतपाल सिंह 36 दिन से फरार था। शांति भंग और हिंसा भड़काने जैसे कई आरोप अमृतपाल सिंह पर हैं। फिलहाल सरेंडर के बाद पुलिस ने अमृतपाल सिंह को हिरासत में ले लिया है। बताया जा रहा है कि सरेंडर से पहले अमृतपाल सिंह ने गुरुद्वारे में प्रवचन भी दिया।उसे मोगा के रोड़ेवाल गुरुद्वारे से पकड़ा गया है, जहां उसे पुलिस उसे अमृतसर ले गई है और वहां से उसे सीधा असम की डिब्रूगढ़ जेल में भेजा जाएगा.

पंजाब पुलिस की ओर से ट्वीट कर कहा गया, “अमृतपाल सिंह को पंजाब के मोगा से गिरफ्तार कर लिया गया है. पंजाब पुलिस आगे की जानकारी बाद में शेयर करेगी.” इसके अलावा पंजाब पुलिस ने लोगों से अपील भी की है कि किसी भी तरह की अफवाह फैलाने से बचें.

 

अमृतपाल का करीबी पप्पलप्रीत हो चुका गिरफ्तार

इससे पहले पंजाब पुलिस ने अमृतपाल के करीबी पप्पलप्रीत को अमृतसर से गिरफ्तार किया था. पंजाब पुलिस को उसने बयान दिया था कि उसे अमृतपाल के बारे में जानकारी नहीं है. उसने कहा, ‘अमृतपाल आत्मसमर्पण करेगा या नहीं, ये मुझे नहीं पता है.’ पप्पलप्रीत ने स्पष्ट किया कि हम 28 मार्च की रात को ही अलग हो गए थे. पप्पलप्रीत की गिरफ्तारी के बाद इसके चांस बढ़ गए थे कि अमृतपाल भी अब अधिक दिन नहीं रुकेगा और आत्मसमर्पण करेगा.

अमृतपाल पर क्यों हो रही कार्रवाई?

अमृतपाल सबसे पहले 23 फरवरी को चर्चा में आया था. उसने अजनाला पुलिस स्टेशन में अपने करीबी को छुड़ाने के लिए हजारों समर्थकों के साथ हमला बोल दिया था. इस हमले में 6 पुलिसकर्मी जख्मी हुए थे. इसके बाद उसने कई टीवी चैनलों में दिए इंटरव्यू में अलग खालिस्तान की मांग की थी. इतना ही नहीं अमृतपाल ने देश के गृह मंत्री अमित शाह को भी धमकी दिया था।