इजरायल और हमास आतंकियों में चल रहे संघर्ष के बीच इजरायल में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए शुरू किए गए ‘ऑपरेशन अजय’ के तहत 212 भारतीयों का पहला जत्था तेल अवीव से गुरुवार रात करीब एक बजे चार्टर्ड विमान के जरिये वतन रवाना हुआ था । इस कड़ी में इजराइल से 212 भारतीय नागरिकों का पहला जत्था आज सुबह फ्लाइट AI1140 से नई दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचा है ।
read more : Israel Palestine War Situation: संघर्ष कब तक : पूरे गाजा की बिजली ठप,सैन्य क्षेत्रों में तब्दील हुए इलाके, इजरायली सेना ने जारी की वॉर्निंग

जानकारी के मुताबिक, इजरायल में तकरीबन 18 हजार भारतीय हैं। इनमें से काफी संख्या में लोगों ने भारत सरकार से वापस लौटने के लिए संपर्क साधा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने गुरुवार को बताया कि भारतीय नागरिकों की सुरक्षित वहां से निकालने के लिए ‘ऑपरेशन अजय’ की शुरुआत की गई है। इसके तहत पहली चार्टर्ड फ्लाइट गुरुवार रात तेल अवीव पहुंच गई थी। उन्होंने बताया कि जरूरत पड़ने पर सरकार भारतीय वायु सेना के विमानों की मदद भी ले सकती है, अभी सिर्फ चार्टर्ड विमानों की मदद ली जा रही है।
https://x.com/ANI/status/1712632783309607293?t=av4uRY7af1P8uJsFFqW4Fg&s=08

वेस्ट बैंक और गाज में भी फंसे भारतीय

अरिंदम बागची ने कहा कि AF के C-17 C-230, IL-76 स्टैंडबाय मोड पर हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि वेस्ट बैंक में लगभग एक दर्जन और गाजा में भी 3-4 भारतीय हैं, हम उसने संपर्क में हैं, इन्हें वापस लाया जाएगा. उन्होंने कहा कि भारत ने फ़िलिस्तीन, 2 राज्य समाधान पर अपनी नीति दोहराई है. बागची ने कहा कि मानवीय कानून का पालन करना एक अंतर्राष्ट्रीय दायित्व है. इसके साथ ही अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद से लड़ने की वैश्विक जिम्मेदारी भी है.

नागरिकों के लिए ऑपरेशन अजय शुरू

विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत ने हमेशा इजराइल के साथ शांति से रहने वाले फिलिस्तीन के एक संप्रभु, व्यवहार्य राज्य की स्थापना के लिए सीधी बातचीत फिर से शुरू करने की वकालत की है. प्रवक्ता ने गुरुवार को कहा था कि हमारे नागरिकों की सुविधा के लिए ऑपरेशन अजय शुरू किया गया था.
सरकार हर भारतीय की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध

दिल्ली एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि हमारी सरकार किसी भी भारतीय को कभी पीछे नहीं छोड़ेगी. हमारी सरकार, हमारे प्रधानमंत्री उनकी रक्षा करने, उन्हें सुरक्षित घर वापस लाने के लिए प्रतिबद्ध है. हम हमारे बच्चों को सुरक्षित घर वापस लाने के लिए विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और उनकी टीम के आभारी हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार

वहीं इजराइल से लौटे एक भारतीय नागरिक ने कहा कि यह पहली बार है कि हमें वहां इस स्थिति का सामना करना पड़ रहा है. हमें वापस लाने के लिए हम भारत सरकार, खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बहुत आभारी हैं. हम इजराइल में शांति की उम्मीद कर रहे हैं, ताकि हम जल्द से जल्द काम पर वापस जा सकें.