राजनांदगांव। CG NEWS : नगर निगम आयुक्त अभिषेक गुप्ता द्वारा शहर के वार्ड नंबर 45 के भाजपा पार्षद के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। भाजपा पार्षद ने आयुक्त के खिलाफ बसंतपुर थाने में अश्लील गाली गलौज और मारपीट की शिकायत की है। वहीं आयुक्त के खिलाफ पुलिस द्वारा एफआईआर नहीं लिखे जाने को लेकर वरिष्ठ भाजपा नेता बसंतपुर थाने पहुंचे थे।

 

राजनांदगांव शहर के वार्ड नंबर 45 के पार्षद गगन आईच के साथ राजनांदगांव नगर निगम आयुक्त अभिषेक गुप्ता द्वारा मारपीट किए जाने का मामला सामने आया है। पार्षद ने बसंतपुर थाने पहुंचकर इस मामले में आयु के खिलाफ आवेदन दिया है। भाजपा पार्षद गगन आईच का कहना है कि नवरात्रि पर्व को देखते हुए उनके वार्ड में स्थित मां पाताल भैरवी मंदिर जाने वाले मार्ग पर गड्ढे की मरम्मत को लेकर वह लगातार आवेदन के माध्यम से नगर निगम प्रशासन को अवगत करा रहे थे, इस विषय में जब उन्होंने आज आयुक्त को फोन करना चाहा तो आयुक्त ने उनके मोबाइल नंबर को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया, इसके बाद गगन आईच आयुक्त के शासकीय निवास स्थान पहुंचे और सड़क मरम्मत को लेकर चर्चा करते हुए अपने मोबाइल नंबर को ब्लैक लिस्ट में डालने की वजह जाननी चाहिए। पार्षद गगन आईच का कहना है कि इतना कहते ही नगर निगम आयुक्त ने उनके साथ अश्लील गाली गलौज करते हुए हाथापाई की और गला दबाने की कोशिश कर कैंची से हमला कर दिया। इसके बाद गगन आईच ने घटना की जानकारी वरिष्ठ भाजपा नेताओं को दी और मामले की शिकायत करने में बसंतपुर थाने पहुंच गए।

 

पार्षद द्वारा नगर निगम आयुक्त के खिलाफ एफआईआर करने की मांग की जा रही थी , लेकिन थाने में आयुक्त के खिलाफ एफआईआर नहीं लिखी जा रही थी। जिसके बाद राजनांदगांव के पूर्व सांसद अभिषेक सिंह भी थाने पहुंच गए और आयुक्त के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की। इस मामले में पूर्व सांसद अभिषेक सिंह ने कहा कि किसी भी अधिकारी द्वारा इस तरह का कृत्य एक जनप्रतिनिधि या आम आदमी के साथ नहीं किया जा सकता है। इस गंभीर मामले को देखते हुए तत्काल आयुक्त को उनके पद से हटाना चाहिए।

 

भारतीय जनता पार्टी के द्वारा एफआईआर नहीं किए जाने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का घेराव करने की चेतावनी भी दी गई। वहीं लगभग 2 घंटे के हंगामा के बाद पुलिस ने शीघ्र ही वैधानिक कार्रवाई करने की बात कही है। इस मामले में नगर पुलिस अधीक्षक अमित पटेल ने कहा है कि पार्षद के द्वारा आवेदन दिया गया है , पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

 

भारतीय जनता पार्टी के द्वारा भाजपा पार्षद के साथ मारपीट की इस घटना का कड़ा विरोध किया गया है और आयुक्त के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कार्रवाई की मांग की गई है। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के द्वारा बसंतपुर थाने का घेराव करने की सूचना मिलने पर एसडीएम भी मौके पर पहुंचे और पूरे मामले में जांच करवाई का आश्वासन दिया है। जिसके बाद मामला शांत हुआ है।