मध्यप्रदेश विधानसभा में सोमवार को नवनिर्वाचित विधायकों का शपथ ग्रहण समारोह था लेकिन विधानसभा सत्र के पहले ही दिन विवाद सामने आया है । दरअसल, विधानसभा के सदन में स्पीकर के बैठने वाली कुर्सी (आसंदी) के पीछे जहां पहले प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की तस्वीर लगी थी वहां आज संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर की तस्वीर लगी थी

read more : FIRE IN BHOPAL : कबाड़खाना इलाके में प्लास्टिक की दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का सामान जलकर राख

विधानसभा स्पीकर के दाएं तरफ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर अभी भी लगी है जबकि बाएं तरफ अब नेहरू की जगह डॉ. अंबेडकर की तस्वीर लगी है। इस बदलाव पर कांग्रेस ने आपत्ति जताते हुए पंडित नेहरू की तस्वीर दोबारा लगाने की मांग की है नहीं तो चेतावनी दी है कि कांग्रेस विधायक वहां दोबारा तस्वीर लगाएंगे नहीं तो नेहरू जी का अपमान भाजपा को मेहंगा पड़ेगा ।

भाजपा विधायक लंबे से इस बदलाव की मांग उठाते आ रहे

बताया जा रहा है कि नेहरू की यह फोटो नई विधानसभा की शुरुआत से यहां लगाई गई थी। भाजपा विधायक लंबे से इस बदलाव की मांग उठाते आ रहे थे। विधानसभा सचिवालय ने आखिर इस पर निर्णय लेते हुए यह परिवर्तन कर दिया। फोटो में बदलाव होते ही इस पर सियासत भी शुरू हो गई, जहां सत्ता पक्ष भाजपा ने इस निर्णय का स्वागत किया है वहीं कांग्रेस ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। सदन में अंदर पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की तस्वीर हटा कर संविधान निर्माता भीमराव अंबेडकर की तस्वीर लगाए जाने पर कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत ने कहा कि अंबेडकर की तस्वीर लगाई जाने का हम स्वागत करते हैं लेकिन पंडित नेहरू की तस्वीर हटाना दुर्भाग्यपूर्ण है