भोपाल। MP BREAKING : प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में मंगलवार को जिला कांग्रेस अध्यक्ष, जिला प्रभारी और प्रदेश पदाधिकारियों की बड़ी महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। इसमें जिला अध्यक्ष और प्रभारियों ने लोकसभा चुनाव में प्रत्याशियों का एलान जल्द से जल्द किए जाने की मांग संगठन के सामने उठाई।

उनका कहना था कि विधानसभा चुनाव में हुई गलतियों को लोकसभा में नहीं दोहराया जाना चाहिए। विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी चयन में देरी हुई थी, जिसका खामियाजा पार्टी को चुनाव में उठाना पड़ा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी को बड़े नेताओं को लोकसभा चुनाव में उतारना चाहिए। बैठक में जिला अध्यक्ष, जिला प्रभारी और अन्य कई पदाधिकारियों ने अपने मन का गुब्बार भी निकाला।

बैठक से बाहर निकले दिग्विजय सिंह बैठक को लेकर कुछ भी बोलने से कतराते नजर आए। हां, ना में दिग्विजय सिंह ने दिए जबाव।

कांग्रेस प्रदेश कार्यकारणी को किया गया भंग, जल्द बनेंगे नए पदाधिकारी

प्रदेश प्रभारी भंवर जितेंद्र सिंह ने कहा कि आज समीक्षा बैठक के बाद प्रदेश कार्यकारणी को भंग करने का निर्णय लिया गया है। आगामी आदेश तक जिला अध्यक्ष और जिला प्रभारी काम करते रहेंगे। जल्द ही नई कार्यकारणी का गठन किया जाएगा।बैठक में प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी के साथ ही कांग्रेस प्रभारी जितेंद्र सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार, पूर्व प्रदेश अध्यक्षगण सुरेश पचौरी, कांतिलाल भूरिया, अरुण यादव, वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा, CWC सदस्य कमलेश्वर पटेल, CEC सदस्य ओमकार मरकाम, पूर्व नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह और उपनेता हेमंत कटारे आदि मौजूद रहे।

जिलाध्यक्ष और जिला प्रभारियों का फूटा गुस्सा

बड़े नेताओं के सामने जिलाध्यक्ष और जिला प्रभारियों का गुस्सा भी फूटा। उन्होंने कहा कि संगठन में नियुक्तियां हो जाती हैं, लेकिन प्रभारी को इसकी जानकारी नहीं जाती है। उन्होंने आगे कहा कि कई जिलों में कुछ लोगों ने तानाशाही रवैया अपना रखा है। जबकि पार्टी में सबकी बात को तवज्जो दी जानी चाहिए।