कैसे खेले जाऊं सावन में कजरिया, बदरिया घिर आई, स्वावलंबी महिला विकास समिति की महिलाओं ने मनाया सावन उत्सव, बांधा समां

 

गरियाबंद- स्वावलंबी महिला विकास समिति महिला समिति के द्वारा सावन उत्सव मनाया गया। उत्सव की शुरुआत तनु साहू की सरस्वती वंदना से हुई। साथ ही सभी महिलाओं ने भगवान भोलेनाथ को पूजा अर्चना किया साथ ही राम रक्षा श्रोत हनुमान चालीसा और महामृत्युजंय का जाप किया,

उसके बाद महोत्सव में सावन को समर्पित एक से बढ़कर एक गीत और नृत्य ने ऐसा रंग जमाया कि वहां उपस्थित सभी महिलाएं अपने आप को रोक नहीं सकी और जमकर धमाल मचाया।

स्वावलंबी महिला विकास समिति की अध्यक्ष तनु साहू ने इस मौके पर सभी महिलाओं का स्वागत किया।

इस दौरान अध्यक्ष ने कहा कि सावन का महीना अध्यात्म से जुड़ा हुआ है। इस महीना में कई पर्व-त्योहार मनाए जाते हैं। धार्मिक और सामाजिक दृष्टिकोण से इस महीना की महिमा काफी अधिक है।सावन पर महिलाओं ने सतरंगी परिधान में सावनी गीत और नृत्य के जरिए समां बांधा और सावन उत्सव मनाया। इस दौरान विभिन्न प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गईं। मेंहदी आदि के जरिए महिलाओं और युवतियों ने अपनी प्रतिभा दिखाई।

महिलाओं ने सावन गीत के जरिए समां बांधा।

हरी चूडियां, परिधानों, मेंहदी से सुसज्जित महिलाओं ने कजली गीत गाए। सावन का प्रिय खेल गुट्टे खेले। सावन गीतों, झूला तो पड़ गए अमुआ की डारन पे, आया सावन , मेघा रे मेघा, सतरंगी चुनरी आदि गीतों से वाहवाही लूटी। इसके साथ ही इन गीतों पर महिलाओं ने सामूहिक और एकल नृत्य प्रस्तुत किया।

स्वावलंबी महिला समिति की सदस्यों ने तरह तरह के फल फूल व छायादार पौधरोपण कर लोगों को पर्यावरण संरक्षण के लिये प्रेरित किया। महिलाओं ने बताया कि वर्तमान ने पूरा विश्व ग्लोबल वार्मिंग की विकराल समस्या ये जूझ रहा है इसी कारण कहीं सूखा तो कहीं बाढ आ रही है । जिसको लेकर अधिक से अधिक पौधरोपण पर बल दिया जा रहा है।

पार्षद गुलेश्वरी ठाकुर ने अपने संबोधन में कहा

कि स्वास्थ्य और धार्मिक ²ष्टिकोण से यह महीना काफी मनोरम है। इस माह में बारिश होने से कई तरह की बीमारियों से लोग ग्रसित होते हैं। इसलिए साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। बारिश में पीने के पानी को ले कर खाद ध्यान दे साथ ही अपने आस पास सफ़ाई रखे इस कार्य में महिलाएं अपनी विशेष भूमिका निभाएं।

इस मौके पर ये रही उपस्थित स्वावलंबी महिला विकास समिति की अध्यक्ष तनु साहू उपाध्यक्ष मुक्ति देवांगन, सुमन साहु, कोषाध्यक्ष प्रीति मिश्रा, सचिव नेहा ज़ाँन सह सचिव धानी मानिकपुरी, सदस्य गुलेस्वरी ठाकुर गीतिका कन्नोजे, गायत्री देवांगन, पिंकी पैकरा, श्रुति सिंग, त्रिवेणी देवांगन, पुनिता साहू, मंजु धुर्व, शीतल बोपचे,, पुनम, जानवी सोनी, वंदना साहु