रायपुर। कोरोना पीड़ितों की संख्या छत्तीसगढ़ में भी बढ़ने लगी है। अब तक केवल एक ही मरीज मिला था, लेकिन बुधवार को राजनांदगांव में दूसरा और राजधानी में तीसरे मरीज के मिलने के बाद अब सरकार के माथे पर बल पड़ना शुरू हो गया है। कोरोना पाॅजिटिव की संख्या में इजाफा चिंताजनक है, हालांकि प्रशासन का दावा है कि छत्तीसगढ़ में तमाम चीजें नियंत्रण में है, लिहाजा किसी को भी पेनिक होने की जरुरत नहीं है, लेकिन हालात न बिगड़े, इस बात का ध्यान पूरे प्रदेश के लोगों को रखने की आवश्यकता है।
बता दें कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में बाहर से आकर लोग खुद का परीक्षण कराना छोड़कर अपने घरों में दुबकने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि यह खतरे का संकेत है। सरकारें बार-बार कह रही है कि यदि आप बाहर से आए हैं, तो सबसे पहले परीक्षण कराए, क्योंकि आपको खुद इस बात की जानकारी नहीं होती कि आप जिन लोगों के बीच से आ रहे हैं, उनमें से कौन कोरोना का मरीज है, लिहाजा ऐहतियातन जांच अवश्य कराएं।
एक के बाद एक कर तीन लोगों के पाॅजिटिव होने के पीछे भी मूल वजह यही है कि लोगों ने अपने को जांच से बचाने की कोशिश की, जबकि सबसे पहले यही करने की आवश्यकता थी।
राजधानी में मिले तीसरे कोरोना पाॅजिटिव के संदर्भ में अब तक मिली जानकारी के मुताबिक वह छोटापारा का निवासी है और हाल ही में वह लंदन से लौटा था। वर्तमान स्थिति में उसे एम्स में दाखिल कराया गया है और आइसोलेट कर दिया गया है।