आधारशिला स्कूल में सफल विद्यार्थियों ने डॉ,, इंजीनियर बनने संकल्प लिया

 

 

*0 आधारशीला स्कूल में १२ वीं का रिजल्ट उत्कृष्ट*

बिलासपुर।छात्रों ने मिलकर एक दूसरे को बधाई दी |

बिलासपुर। गुरुवार को cbsc ने 10 th और 12th के परीक्षा का परिणाम जारी किया। जिसमें आधारशिला विद्या मंदिर के 12 th के कला संकाय में चन्द्र पियूष बाजपेयी ने 93 प्रतिशत एवं विज्ञान संकाय (बायो) में चित्रलेखा कोरी ने 93 प्रतिशत, सुयश सोनी ने 92.6 प्रतिशत और प्रियांशी श्रीवास ने 91 प्रतिशत अंक, विज्ञान संकाय (गणित) में शिरीश पाण्डेय ने 92.6 प्रतिशत और सृजन अग्रवाल ने 91 प्रतिशत अंक हासिल किये |
वहीँ वाणिज्य संकाय में प्रखर बैगुर ने 85 प्रतिशत अंक हासिल किया | आधारशिला के विद्यार्थी अब विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं कॉलेज में परिणाम के लिए आशान्वित हैं |

विद्यालय की छात्रा चित्रलेखा कोरी बचपन से ही आधारशिला की छात्रा रहीं है | उन्होंने ग्रामीण परिदृश्य में रहते हुए स्वाध्याय व आधारशिला के शिक्षकों के मार्गदर्शन से 10 वीं और 12 वीं दोनों ही कक्षाओं में टॉप किया | हाल ही में हुए उन्होंने नर्सिंग परीक्षा में राज्य भर में दूसरा स्थान प्राप्त किया है | वे अब डॉक्टर बनना चाहती हैं व नीट में भी अच्छे रिजल्ट के प्रति आशान्वित हैं |

कला संकाय से पीयूष वकालत की पढाई कर जज बनना चाहते हैं | उन्होंने अपने रिजल्ट के लिए अपनी जिज्ञासा को जिन्दा रखा एवं शिक्षकों को ध्यान से सुना | साथ ही नोट्स एवं एन.सी.आर.टी का विस्तृत अध्ययन किया | बायो स्ट्रीम से सुयश सोनी ने सभी शिक्षकों का उचित मार्गदर्शन के लिए धन्यवाद् किया एवं स्कूल प्रबंधन के सहयोग पूर्ण रवैये को अपने रिजल्ट के लिए धन्यवाद् दिया | गणित संकाय से सीरीश पाण्डेय आगे आई.आई.टी से इंजीनियरिंग की पढाई करना चाहते हैं | उन्होंने बताया कि वे अकादमिक के साथ अन्य गतिविधियों मे सीखते रहे और अब अच्छे एन्ज़िनीरिंग रैंक के लिए आशान्वित हैं |

इस मौके पर सभी छात्र, शिक्षक एवं प्रबंधन ने साथ मिल कर स्कूली यात्रा के अनुभवों को साझा किया | छात्र- छात्राओं को गुरुजनों से आगे लिए ढेर सारी शुभकामनायें व आशीष भी मिला | छात्रों की उपलब्धि पर शाला प्रबंधन समिति के चेयरमैन डा अजय श्रीवास्तव, अकादमिक निदेशक श्री एस.के जनास्वमी और प्राचार्या जी. आर मधुलिका ने छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए हर्ष व्यक्त किया है ।

छात्रों को संबोधित करते हुए डा अजय श्रीवास्तव ने कहा कि ये सिर्फ शुरुआत है | सीखना जीवन भर चलने वाली प्रक्रिया है | जो सीखता रहेगा वो जिस किसी भी प्रोफेशन में जायेगा काफी अच्छा करेगा | कभी भी किसी भी परिणाम को आखिरी परिणाम न माने एवं नियमित रूप से जीवन के सभी आयाम में पहले से बेहतर बनने का प्रयास करें |

अकादमिक निदेशक श्री एस.के जनास्वमी ने कहा कि अकादमिक गुणवत्ता के साथ अपने करैक्टर का भी ध्यान रखें | इससे आपको लम्बे समय के लिए दोस्त एवं मार्गदर्शक मिलेंगे |

प्राचार्या जी. आर मधुलिका ने कहा आज जब आधारशिला के छात्र कहीं अच्छे कॉलेज या नौकरी में जाते हैं तो हमें काफी खुशी होती है और वे बाकी विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा बनते हैं |