राजनीति के बाद अब नौकरशाही में भी, विकसित होने लगी पांव छूने की परंपरा
राजनीति के बाद अब नौकरशाही में भी, विकसित होने लगी पांव छूने की परंपरा
राजनीति के बाद अब नौकरशाही में भी, विकसित होने लगी पांव छूने की परंपरा
राजनीति के बाद अब नौकरशाही में भी, विकसित होने लगी पांव छूने की परंपरा

कोरिया। राजनीति में बड़े नेताओं की आमद के साथ ही पैर छूने की परंपरा सालों पहले शुरु हुई थी, जो अब आचरण में शामिल हो चुका है। लेकिन नौकरशाही में सीनियर अफसरों के पैर छूने की परंपरा कभी नहीं थी। अब छत्तीसगढ़ में एक नई परंपरा को शुरू होते देखा जा रहा है। ताजा मामला जो काफी ज्यादा चर्चा में आ गया है, वह कोरिया जिले का है, जहां जिले के नए कलेक्टर की आमद पर वहां के तहसीलदार ने पैर छूकर स्वागत किया।

आईएएस अफसरों का थोक के भाव में तबादला

विदित है कि हाल ही में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश में पदस्थ आईएएस अफसरों का थोक के भाव में तबादला आदेश जारी किया है। इसमें राजधानी सहित कई जिले के कलेक्टरों का भी तबादला हुआ है, तो लंबे समय से मंत्रालय और सचिवालय में पदस्थ अफसरों को भी मैदानी कार्य में तैनात किया गया है। इसमें कोरिया जिला भी शामिल है, जहां बकौल कलेक्टर आईएएस अफसर श्याम कुमार धावड़े को पदस्थ किया गया है।

READ MORE : POLITICAL NEWS : छत्तीसगढ़ में शेष निगम मंडलों में 17 जून को होगी नियुक्तियां.! सीएम और पीसीसी चीफ की मौजूदगी में जल्द होगी बैठक

कलेक्टर धावड़े बुधवार को कार्यभार ग्रहण करने जिला मुख्यालय बैकुंठपुर पहुंचे। उनके स्वागत के लिए जिला प्रशासन के सभी अफसर तैनात थे। लोगों ने उन्हें गुलदस्ता भेंटकर स्वागत किया। इस मौके पर जिले के केल्हारी तहसीलदार मनोज पैकरा भी मौजूद थे। तहसीलदार पैकरा ने कलेक्टर धावड़े का स्वागत गुलदस्ता देकर नहीं, बल्कि पैर छूकर किया।

अब उनके पैर छूने की बात चर्चित हो गई है, जिस पर तहसीलदार मनोज पैकरा ने सफाई देते हुए कहा कि वे कलेक्टर धावड़े के साथ गरियाबंद में भी सेवाएं दे चुके हैं। आईएएस धावड़े को पैकरा ने अपना आदर्श बताते हुए सम्मानित किए जाने की बात कहीं है। पर सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा जोरो पर है।

READ MORE : BREAKING NEWS : पेट्रोल की कीमत 100 रुपए के करीब, शुक्रवार को कांग्रेस करेंगी प्रदर्शन, ऐसी होगी रणनीति

के नए कलेक्टर श्याम कुमार धावड़े बुधवार को कार्यभार ग्रहण करने जिला मुख्यालय बैकुंठपुर पहुंचे। इस दौरान कलेक्टोरेट के सामने कई अधिकारियों ने उन्हें गुलदस्ता भेंट कर उनका स्वागत किया। केल्हारी के प्रभारी तहसीलदार मनोज पैकरा ने गुलदस्ता की बजाय उनका पैर छू लिया। प्रभारी तहसीलदार द्वारा स्वागत करने का यह तरीका सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस मामले में जब तहसीलदार पैकरा से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि गरियाबंद जिले में हमने साथ काम किया था। मैं उनको अपना आदर्श मानता हूं। प्रभारी तहसीलदार भले ही सफाई देते नजर आए लेकिन सोशल मीडिया पर इसे लेकर तरह-तरह की चर्चा चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

BREAKING : कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर सरकार का बड़ा फैसला, महाराष्ट्र से सटी सीमा सील, आने-जाने पर रोक

नयी दिल्ली।  महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश समेत देश के कई राज्यों में…

विरेंदर सहवाग के उस मशहूर किस्से पर क्यों शोएब अख्तर ने पलटवार करते दी थी धमकी ?

कुछ साल पहले सहवाग ने बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान से बताया था…

RTO कार्यालय में कोरोना की दस्तक… यदि आप भी गए हैं तो करा लीजिये कोरोना जाँच…

बिलासपुर।प्रदेश में कोरोना मरीज़ों की संख्या में लगातार इज़ाफ़ा होता जा रहा…

गरियाबंद पुलिस विभाग के द्वारा अंतरराष्ट्रीय।महिला दिवस पर विशेष कार्यक्रम.. अभिव्यक्ति महिला सुरक्षा पर आधारित जन जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया

गरियाबंद, अंतराष्ट्रीय महिला दिवस 2021 के अवसर पर जिला पुलिस ने ”…