भारत सरकार ने गणतंत्र दिवस (Republic day) को लेकर बड़ा फैसला लिया है। सूत्रों के मुताबिक देश में अब गणतंत्र दिवस समारोह (republic day celebration) की शुरुआत 24 जनवरी की जगह 23 जनवरी से होगी। बताया गया है कि सरकार ने ये फैसला सुभाष चंद्र बोस की जयंती (subhash chandra bose birth anniversary) को भी गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल करने के लिए लिया है।

बता दें कि पहले भी मोदी सरकार कई तारीखों को राष्ट्रीय महत्ता के दिवस के रूप में घोषित कर चुकी है। जैसे 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस, 31 अक्तूबर सरदार पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस, 15 नवंबर बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस और 26 नवंबर संविधान दिवस के तौर पर घोषित किया जा चुका है।

गणतंत्र दिवस समारोह 2022 पर ओमिक्रॉन का साया, नहीं होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम, बच्चे भी नहीं होंगे शामिल

गणतंत्र दिवस समारोह

गणतंत्र दिवस की शुरुआत 24 जनवरी से होती है। 26 जनवरी को दिल्ली के राजपथ पर राष्ट्रपति द्वारा तिरंगा फहराया जाता है। इसके बाद राजपथ पर परेड होती है, झांकियां निकलती हैं साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होता है। इसके चार दिन बाद दिल्ली के विजय चौक पर ‘बीटिंग द रिट्रीट’ कार्यक्र के साथ गणतंत्र दिवस समारोह का समापन होता है।