इंदौर के रावजी बाजार थाना छेत्र में एक 7 साल की बच्ची के अपहरण के मामले में शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने ततपरता दिखाते हुए क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरा की सहायता से महिला आरोपी ज्योति को गिरफ्तार कर लिया है, वही इस पूरे मामले में समूह लोन की किस्त भरने को बताया जा रहा है अपहरण की वजह।

read more ; Breaking News : दर्दनाक हादसा, खरगोन जिले में पुल से नीचे गिरी बस, 15 लोगों की मौत, कई घायल

दरअसल, रावजी बाजार से एक बच्ची लापता हो गई थी, जिसमे बच्ची के परिजनों ने थाने पहुंचकर पुलिस को मामले की जानकारी दी, जिसमे पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए एक टीम बनाई और सीसीटीवी फुटेज तलाशे, जिसमे समूह लोन से जुड़ी महिला को बच्ची को ले जाते हुए देखा गया, जिसके बाद जब पुलिस ने महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने बताया कि बच्ची के हाथ पैर बांधकर उसे कमरे में बंद किया है। जिसके बाद पुलिस ने बच्ची को छुड़ाकर परिवार के सुपुर्द कर दिया, गौरतलब है कि यह पूरी साजिश समूह लोन की किश्तों को लेकर रची गई थी और 4 लाख की फिरौती मांगी गई थी, जिसमे किश्त न चुकाने पर बच्चों की मां और आरोपियां के बीच काफी दिनों से तनातनी चल रही थी। बहरहाल जूनी इंदौर पुलिस ने महिला आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जिससे पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है।